cyclone

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अम्फान तूफान से प्रभावित पश्चिम बंगाल का शुक्रवार को दौरा करेंगे। अम्फान की वजह से प्रदेश के दक्षिणी हिस्से में नुकसान का आकलन करने के लिए पीएम मोदी बंगाल के दौरे पर जाएंगे।

सुपर साइक्लोन में तब्दील हो चुके चक्रवात तूफान अम्फान ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में जमकर तबाही मचाई। दोनों ही राज्यों में तूफान का विकराल रूप देखने को मिला।

‘अम्फान’ तूफान अब सुपर साइक्लोन (super cyclone) में तब्दील हो चुका है। अब ये तूफान पश्चिम बंगाल और ओडिशा की ओर तेज रफ्तार से बढ़ रहा है।

मौसम विभाग का कहना है कि 17 मई को यह चक्रवात गाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम में पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तट की तरफ बढ़ेगा।

कोरोना संकट के बीच देश में चक्रवाती तूफना का खतना मंडरा रहा है। दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी में करीब 1000 किलोमीटर की दूरी पर अगले 12 घंटे में चक्रवाती तूफान में तेजी से वृद्धि हो सकती है।

मई के महीने में अचानक मौसम बदल गया है। इधर कुछ दिनों से लगातार तेज आंधी और तूफान के साथ बारिश और ओलावृष्टि हो रही है। एक बार फिर मौसम विभाग ने शुक्रवार को दिल्ली एनसीआर समेत देश के राज्यों में आंधी और बारिश की आशंका जाहिर की है।

जिले में लोगों पर शुक्रवार को मेघ काल बनकर बरसे। यहां आंधी तूफान से दो लोगों की मौत हो गयी, वहीं एक दर्जन लोग घायल हो गए। गुरुवार की देर शाम आए आंधी पानी से महड़ा के ऊपर कच्चा दीवार गिरने से एक युवक  सहित एक किशोरी की मौत हो गयी। घटना के बाद परिजनों ने आनन फानन में मंडलीय अस्तपाल लाया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

चक्रवात बुलबुल कोलकाता से 930 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणपूर्व अवस्थित है और गुरुवार रात को इसके और मजबूत होने की संभावना है। शनिवार को यह और ताकतवर होकर ‘बहुत गंभीर’ श्रेणी में पहुंच जाएगा जिससे समुद्र में स्थिति प्रतिकूल हो सकती है।