daily

मास- मार्गशीर्ष, तिथि- चतुर्थी ,पक्ष- कृष्ण, नक्षत्र-आर्द्रा, सूर्योदय-6.44, सूर्यास्त-17.27, चौघड़िया- शुभ- 08:08 से 09:27, चर – 12:06 से 13:25, लाभ – 13:25 से 14:44, अमृत – 14:44 से 16:04।

मास- कार्तिक, पक्ष- कृष्ण, वार-रविवार , तिथि अमावस्या, राहुकाल- प्रात: 4:27 से 17.52 तक, सूर्योदय – 06:29, सूर्यास्त – 17:52।ग्रहों की स्थिति-राहु मिथुन राशि में हैं। कन्या में मंगल और चंद्रमा लक्ष्मी योग बना रहे हैं। यह बहुत अच्छी स्थिति है। इसी लक्ष्मी योग का सबको इंतजार रहता है।

मास- कार्तिक, पक्ष- कृष्ण, वार-शनिवार, तिथि त्रयोदशी, योग वैधृति,करण-वणिज, राहुकाल- प्रात: 9:00 से 10:30 तक, सूर्योदय – 06:28, सूर्यास्त – 17:41। नरक चतुर्दशी पर यम का दिया जलाएं।

माह – कार्तिक, तिथि – एकादशी ,पक्ष – कृष्ण,वार – गुरूवार,नक्षत्र – मघा सूर्योदय – 06:27:14, सूर्यास्त – 17:43। शुभ – 06:31 से 07:55,चर – 10:42 से 12:05, लाभ – 12:05 से 13:29, अमृत – 13:29 से 14:52

माह – कार्तिक,तिथि – सप्तमी व अष्टमी ,पक्ष – कृष्ण, वार – सोमवार,नक्षत्र – पुनर्वसु सूर्योदय – 06:25, सूर्यास्त – 17:46। घर की साफ सफाई में दिन बितेगा। जरूरी सामानों की खरीद के लिए कुछ लोग बाहर जा सकते हैं।

माह – आश्विन,तिथि – नवमी,पक्ष – शुक्ल,वार – सोमवार, नक्षत्र –उत्तराषाढ़ा  तक,सूर्योदय – 06:16,सूर्यास्त – 18:00, चौघड़िया अमृत – 06:21 से 07:48,शुभ – 09:15 से 10:42,चर – 13:36 से 15:03,लाभ – 15:03 से 16:30। नवरात्रि का नौवा दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा का दिन है। इस दिन पूजा करने से मां हर मनोकामना पूर्ण करती है।

जयपुर : माह – आश्विन, तिथि – तृतीया , पक्ष – कृष्ण , वार – मंगलवार, नक्षत्र – अश्विनी – पूर्ण रात्रि तक सूर्योदय – 06:06, सूर्यास्त – 18:24, चौघड़िया चर – 09:13 से 10:44,लाभ – 10:44 से 12:15, अमृत – 12:15 से 13:47, शुभ – 15:18 से 16:49

माह – आश्विन,तिथि – प्रतिपदा ,पक्ष – कृष्ण,वार – रविवार,नक्षत्र – उत्तराभाद्रपद,सूर्योदय – 06:05,सूर्यास्त – 18:26, चौघड़िया चर – 07:41 से 09:13, लाभ – 09:13 से 10:45, अमृत – 10:45 से 12:16, शुभ – 13:48 से 15:20

हमें जीवन में आगे बढ़ने के लिए कड़ी मेहनत तो करनी चाहिए और यही सीख घर के बच्चों को भी देनी चाहिए।मेहनत के बाद भी अगर सफलता नहीं मिल रही हो तो इसका कारण दुर्भाग्य या हमारे आसपास मौजूद नकारात्मक ऊर्जा हो सकती है। सफलता के लिए मेहनत जितना जरूरी है उतना ही भाग्य।

पक्ष-कृष्ण,पक्ष,वार-बुधवार,तिथि-त्रयोदशी,नक्षत्र- पुष्य,सूर्य राशि  सिंह,चंद्र राशि-कर्क,राहुकाल-12:22 - 13:58, सूर्योदय-05:57 ,सूर्यास्त-18:48 । भगवान विष्णु की पूजा से अपने दिन की शुरुआत करें। उत्तम फल मिलेगा।