dawood ibrahim

चिंकू पठान नशीली दवाओं की तस्करी करता था एनसीबी ने मुंबई के डोंगरी इलाके में 2019 में चिंकू पठान की दवा की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया था। एनसीबी ने अपनी छापेमारी कर भारी मात्रा में ड्रग्स के साथ इसे गिरफ्तार किया था।

पाकिस्तान में लगातार बढ़ती सख्ती के बाद अब दाऊद इब्राहिम ने अपने परिवार के खास सदस्यों को पाकिस्तान से बाहर शिफ्ट कर दिया है। दाऊद का छोटा भाई मुस्तकीम अली कासकर पहले से ही दुबई में बसा हुआ है। और वह संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और कतर में डी कंपनी के वैध कारोबार की देखभाल करता है।

गुजरात एटीएस(ATS) ने अंडरवर्ल्ड सरगना आतंकी दाऊद इब्राहिम के नजदीकी अब्दुल माजिद कुट्टी को गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के अनुसार, अब्दुल माजिद को झारखंड से गिरफ्तार किया गया है। अब्दुल 4 साल से फरार चल रहा था। जिसकी काफी दिनों से तलाश जारी थी।

एक समय था जब मुंबई में अंडरवर्ल्ड डॉन का खौफ अपनी चरम सीमा पर था, उसी समय छोटा शकील डी कंपनी के एक पंटर को पत्रकार के रूप में मुंबई पुलिस मुख्यालय भेजा करता था। ऐसें में अंडरवर्ल्ड में उसे एसटीडी(STD) के नाम से लोग जानते है।

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की गर्लफ्रेंड महविश हयात इन दिनों ढेरों सुर्खिया बटोर रही हैं। एक इंटरव्यू के दौरान शादी को लेकर ऐसा बयान दिया है जिसके चलते वह सोशल मीडिया पर छाई हुई हैं।

अंडर वर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की पहले भी कुछ संपत्तियां नीलाम की जा चुकी हैं। इन्हें दिल्ली के रहने वाले दो वकीलों ने खरीदा था। मुंबई में साल 1993 में बम धमाकों के बाद से दाऊद फरार चल रहा है।

मुंबई में दाऊद की संपत्ति आखिरकार नीलाम ही हो गई। जीं हां दिल्ली के दो वकीलों को दाऊद इब्राहिम की 6 संपत्तियां मिली है। जिससे सरकार ने 22 लाख 79 हजार 600 रुपये की कमाई की है।

प्रवर्तन निदेशालय ने दाऊद सहयोगी इकबाल मिर्ची से जुड़ी ये संपत्तियां धन शोधन निवारण अधिनियम, 2002 (PMLA) की धारा 5 के तहत संलग्न की हैं। ऐसे में इकबाल मिर्ची के परिवार वालों की इस प्रॉपर्टी की कीमत 22.42 करोड़ रुपये बताई गई है।

मुंबई बम कांड के भगोड़े आतंकी दाऊद इब्राहिम पर सरकार सबसे बड़ी कार्रवाई करने जा रही। सरकार महाराष्ट्र में दस नवंबर को उसकी सात प्रॉपर्टी नीलाम करेगी।

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की ब्रिटेन में 43 हजार करोड़ की संपत्ति सीज की गई है। ये जानकारी ब्रिटेन के अखबार बर्मिंघम मेल के हवाले से बाहर निकलकर आई है।