Delhi violence

आम आदमी पार्टी (आप) के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन ने उत्तर-पूर्व दिल्ली में दंगों में शामिल होने की बात कबूल कर ली है। दिल्ली पुलिस की जांच पूछताछ में हुसैन ने स्वीकार कर ली है

दिल्ली पुलिस आज हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की हत्या के मामले में करीब 1100 पेज का आरोप पत्र दाखिल कर रही है। जिसमें हिंसा की प्लानिंग की तरफ इशारा किया गया है।

दिल्ली हिंसा से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ रही है। 25 फरवरी को दिल्ली के भजनपुरा इलाके में अकबरी बेगम की घर में लाश मिली थी। इस केस में अरुण कुमार, वरुण कुमार, विशाल सिंह, रवि कुमार, प्रकाश चंद और सूरज को गिरफ्तार किया गया था।

सीएए के खिलाफ फरवरी में हुए विरोध के दौरान उत्तरी-पूर्वी दिल्ली में साम्प्रदायिक दंगे भड़के। जिसमें कथित तौर पर मुस्लिम भीड़ ने हिंदू समुदाय को निशाना बनाते हुए कई दुकानों और घरों आदि में आगजनी की।

दिल्ली पुलिस ने हिंसा में मारे गए आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में बुधवार को कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी। चार्जशीट में हत्या की साजिश रचने के लिए पार्षद ताहिर हुसैन को जिम्मेदार ठहराया गया है।

क्राइम ब्रांच ने दिल्ली हिंसा मामले में कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट दायर कर दी है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच में कोर्ट में दाखिल की चार्जशीट में आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और पार्षद ताहिर हुसैन को मास्टरमाइंड बनाया है।

दिल्ली दंगे के मामले में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई), जामिया कोआर्डिनेशन कमेटी (जेसीसी), पिंजरा तोड़ और ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (एआईएसए) के कई सदस्य पुलिस के निशाने पर हैं

दिल्ला हिंसा में इंटेलिजेंस ब्यूरो(आईबी) अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या कर दी गई थी जिसके बाद अब उनकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आ चुकी है।

दिल्ली में पिछले दिनों हुई हिंसा में आईबी ऑफिसर अंकित शर्मा की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। अंकित शर्मा की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने हसीन कुरैशी नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है।