devotees

राम जन्म भूमि में भव्य मंदिर निर्माण के लिए देशभर से दान किया जा रहा है। ऐसे में अब बड़ा फैसला लिया गया है। श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट ने सोने चांदी के ईंटे दान में स्वीकार करने का एलान किया है।

मंदिर खुलते ही दिखा ऐसा नजारा, श्रद्धालुओं ने किये महादेव के दर्शन

उत्तराखंड के मुख्य्मंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से पूछा गया कि कर्नाटक सरकार ने मंदिरों को खोलने की इजाज़त दे दी है और इसके साथ दूसरे राज्यों में भी मंदिरों को खोलने की मांग भी उठने लगी है। जब लोगों ने पूछा की क्या सरकार चारधाम यात्रा में दर्शन की इजाजत दे सकती है?

पाकिस्‍तान के करतारपुर स्थित जिस गुरुघर के लिए रास्‍ता खुलने का सिख धर्मावलंबियों ने 72 साल तक लंबा इंतजार किया। वह करतारपुर साहिब कॉरिडोर महज 128 दिनों में ही 16 मार्च से बंद हो गया। इसके पीछे कोरोना वायरस के संभावित खतरे को बताया जा रहा है।

मथुरा के इस्कॉन मंदिर में कोरोना वायरस का असर दिखने लगा है। यहां आने वाले विदेशी भक्तों की एंट्री पर रोक लगा दी गई है। ये रोक दो महीने के लिए लगाई गई है, जब तक कि कोरोना वायरस के चलते हालात सामान्य नहीं हो जाते।

पाकिस्तान में स्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने वाले श्रद्धालुओं पर इंटेलीजेंस ब्यूरो की नजर है। इसके लिए एसपी गुरदासपुर को सूचित किया गया है।

शुक्रवार को भोर होते गोविन्द साहब के गगनभेदी उद्घोष से पूरा धाम गुंजायमान रहा। लोग सरोवर में स्नानोपरान्त हाथों में कच्ची खिचड़ी का प्रसाद तथा मन में मन्नतें लेकर भीगे वस्त्रों में ही बाबा की समाधि की तरफ पहुचते रहे।

करतारपुर कॉरिडोर के उदघाटन के बाद श्रद्धालुओं में उत्साह की कमी आने लगी है। पहले तीन दिन में गुरुद्वारा दरबार साहिब में केवल हजारों लोग ही दर्शन करने गए हैं। लेकिन अब हर दिन आने वाले लोगों की संख्या में कमी देखी जा रही है। इसके लिए कई वजहे हैं।

पाकिस्ता्न में स्थित दरबार साहिब गुरुद्वारा के दर्शन करने बहुत कम लोग जा रहे हैं। सोमवार को महज 130 लोग ही करतारपुर कॉरिडोर दरबार साहिब गुरुद्वारा के दर्शन के लिए गए।

देवी के भक्तों नवरात्रि में हम आपको अपने पिछले लेखों में देवी के प्रादुर्भाव दुर्गा सप्तशती के तीन अध्यायों के गुप्त रहस्यों की जानकारी दे चुके हैं। बता चुके हैं कि कौन से अध्याय को करने से आप अपनी किस समस्या का छुटकारा पा सकते हैं