digvijay singh

महाराष्ट के नांदेड़ से लौटे सिख श्रद्धालुओं की वजह से पंजाब में कोरोना के आंकड़े में तेजी से इजाफा हुआ है। पंजाब में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 780 हो गई है।

मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया की बगावत ने कमलनाथ की सीएम की कुर्सी लेने के बाद अब दिग्विजय सिंह की राज्यसभा सीट के लिए खतरा पैदा कर दिया है। हालांकि कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण मध्यप्रदेश की तीन राज्यसभा सीटों पर होने वाला चुनाव स्थगित हो गया है मगर इसके साथ ही कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह और फूल सिंह बरैया की मुश्किलें भी बढ़ गई है।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को देश का सबसे बड़ा ड्रामेबाज बताया। शिवराज का यह बयान उस समय आया है जब कांग्रेस नेता पार्टी के बागी के विधायकों से मिलने के लिए बंगलूरू पहुंचे, लेकिन पुलिस ने उन्हें मिलने से रोक दिया। 

बंगलुरू में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को हिरासत में लिए जाने के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भोपाल में भाजपा कार्यालय को घेर कर विरोध प्रदर्शन किया।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस और बीजेपी के बीच सियासी लड़ाई अपने चरम पर है। इस जंग में कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह बीजेपी को खुली चुनौती दे रहे हैं।

17 राज्यों में राज्यसभा की 55 सीटों के लिए होने वाले चुनाव के लिए कांग्रेस ने गुरुवार को 12 प्रत्याशियों के नाम का एलान कर दिया है। कांग्रेस के प्रत्याशियों में सबसे प्रमुख नाम पार्टी के दो राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह और केसी वेणुगोपाल का है।

मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से सियासी उठापठक लगातार जारी है। प्रदेश के दोनों बड़े दल कांग्रेस और बीजेपी अपना-अपना पाला मजबूत करने में लगे हैं। इसी सिलसिले में कमलनाथ सरकार से नाराज और सिंधिया गुट के विधायकों को मनाने और वापस भोपाल लाने के लिए मंत्री जीतू पटवारी और लखन सिंह बेंगलुरु पहुंचे थे।

नामांकन भरने के बाद दिग्विजय सिंह ने मध्यप्रदेश की राजनीतिक स्थिति पर कहा, 19 विधायकों के इस्तीफे को स्वीकार नहीं किया गया है। उन्हें खुद स्पीकर के सामने आना पड़ेगा और अपने बारे में बात करनी होगी। इन विधायकों को भाजपा ने बंधक बनाया हुआ है।'

मध्‍यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेसी दिग्गज दिग्विजय सिंह ने कहा है कि कांग्रेस से किनारा करने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी में कभी साइडलाइन नहीं किया गया, तमाम बड़े फैसलों में उनकी रजामंदी ली जाती थी।

मध्य प्रदेश में सियासी संकट गरमा गया है। कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस फैसले पर कई दिग्गजों की प्रतिक्रिया आई है। कांग्रेस के कई दिग्गजों ने सिंधिया की जमकर आलोचना की।