digvijay singh

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री से अनुरोध है कि 2014 के चुनाव के बाद हिदू मुसलमान,भारत पाकिस्तान की ही बात कर रहे है। लेकिन अब रोज़गार पर भी चर्चा होनी चाहिए।

छत्तीसगढ़ के कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय, रायपुर के कुलपति के नाम को लेकर शुक्रवार को राजनैतिक घराने में हलचल तेज हो गई। इस मामले में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की पत्नी अमृता सिंह का नाम सामने आने के बाद बाजार में तरह-तरह की चर्चायें जन्म ले रही हैं।

सोशल मीडिया में आज एक खबर पूरे दिन चर्चा में रही। ये खबर है ही कुछ ऐसी। जिसे लोग एक दूसरे के साथ बड़ी ही तेजी के साथ शेयर कर रहा है। दरअसल समाजवादी छात्र सभा के स्टेट प्रेसिडेंट दिग्विजय सिंह ने इस फोटो को ट्विटर पर शेयर किया है।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह अपने बयान के कारण फिर से विवादों में आ गए हैं। उन्होंने दुराचार के मामलों में भगवा धारियों के लिप्त होने पर सवाल उठाया, तो हिंदू समाज ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

दिग्विजय ने कहा कि प्रधानमंत्री में क्या ये परिवर्तन सच में है या सिर्फ एक जुमला ही है। देश में आज सांप्रदायिकता का जहर कूट-कूटकर भर दिया गया है, अब इसे वापस निकालना आसान नहीं है।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आगे लिखा कि, "हर व्यक्ति को उसके शरीर की बनावट के आधार पर किसी अच्छे वैद्य के मार्ग दर्शन में ही योग आसन करना चाहिए, वरना आसन से उसका नुक्सान भी हो सकता है।

हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान यज्ञ कर कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को भोपाल लोकसभा सीट से जिताने झूठा दावा करने वाले बाबा वैराग्यनंद गिरी महाराज ने भोपाल के कलेक्टर को पत्र लिखकर 16 जून को समाधि लेने के लिए अनुमति मांगी है।

मध्यप्रदेश में वोटों की गिनती से पहले मतगणना केंद्र के बाहर कुछ इस तरह का नजारा देखने को मिला। मध्यप्रदेश की 29 लोकसभा सीटों पर सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हो गई है।

लोकसभा चुनाव के छठे चरण में सात राज्यों की 59 सीटों पर मतदान जारी है। इन सीटों पर कुल 989 उम्मीदवार चुनावी किस्मत आजमा रहे हैं। इस चरण में कई दिग्गज नेताओं के साथ-साथ पूर्व मुख्यमंत्रियों की साख भी दांव पर लगी है।