district shahjahanpur

दोनों शिक्षिकाओं का दावा है कि उत्तर प्रदेश में लौटे प्रवासी मजदूर अगर गौ उत्पाद तैयार करें तो उन्हें रोजी रोटी के लिए कहीं बाहर नहीं जाना पड़ेगा । फिलहाल गौशाला चलाने वाली सरकारी शिक्षिकाएं गाय के गोबर से बने हैं । प्रोडक्ट को ऑनलाइन बेचने की तैयारी कर रही है।

पुलिस प्रशासन पर ही लॉक डाउन के उल्लंघन का ठीकरा फोड़ दिया जाता है। लेकिन आज ऐसा नही है। क्योंकि पति की दीर्घायु के लिए पूजा करने के लिए आने वाली महिलाओं को बरगद के इर्द-गिर्द सिर्फ और सिर्फ पुलिस बल मिला।

कटरा विधानसभा से बीजेपी विधायक वीर विक्रम सिंह है। उनका पैतृक गांव डभौरा है। इस गांव से महज दो किलोमीटर दूर ईमईपुर संडा गांव है । इस गांव में लॉकडाउन के 27 दिन के बाद भी किसी अधिकारी ने जाने की जहमत नही उठाई है।

पिछले 7 माह में 9 नवजात बच्चियों के शव मिल चुके हैं। कुछ झाड़ियों में मिले तो कुछ नहर में। लेकिन सबसे ज्यादा शव मेडिकल कॉलेज के पास बने नाले में मिले है। बीते मंगलवार की सुबह में नवजात बच्ची का शव मेडिकल कॉलेज के बाहर नाले में मिला।

शाहजहांपुर की नगर विधानसभा से बीजेपी विधायक व कैबिनेट मिनिस्टर सुरेश कुमार खन्ना की। सुरेश कुमार खन्ना का नाम जनपद में इतना ज्यादा चर्चित है कि चाहे महिलाएं, बुजुर्ग, जवान हो या फिर बच्चे बस वह सुरेश कुमार खन्ना को खन्ना जी के नाम से जानते है। सुरेश कुमार खन्ना ने खत्री परिवार में जन्म लिया है।

भारी पुलिस बल और आलाधिकारियों की मौजूदगी के बावजूद लोग एक बाईक पर तीन से पांच सवारी तक बैठे थे। लेकिन पुलिस इतनी हिम्मत नही जुटा पा रही थी कि वह किसी का चालान कर दें। लोग चार चार सवारी बैठे पुलिस कर्मियों के बीच से होकर गुजर रहे थे। और जमकर नारेबाजी भी कर रहे थे।

सपा जिलाध्यक्ष तनवीर खान के नेतृत्व मे दर्जनों सपा नेता और कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट परिसर मे जमकर हंगामा काटा। उन्होंने सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर सीएम योगी पर तमाम आरोप लगाए है। उनका आरोप है कि रामपुर कि जौहर यूनिवर्सिटी मे बगैर किसी भेदभाव के शिक्षा दी जा रही है।

सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश दिया था। जिसमे होमगार्डों का वेतन कांस्टेबल के बराबर देने की बात की है। इस आदेश के बाद होमगार्डों मे खुशी की लहर है। साथ ही होमगार्डों ने कलेक्ट्रेट परिसर मे मिठाइयाँ बांटी। होमगार्डों ने कलेक्ट्रेट परिसर मे ज्ञापन देने से पहले इकट्ठा होकर जन-गण-मन गाया।

घटना थाना निगोही के बसंतपुर गांव की है। यहां के रहने वाले हैदललाल की 12 वर्षिय बेटी शीतल आज स्कूल से वापस घर लौट रही थी। जैसे ही वह गांव के अंदर रोड पर आई। तभी एक कार से तीन बदमाश आए और उस छात्रा को रास्ते में  रोक लिया। उसके बाद तीनों बदमाशों ने छात्रा को खींचकर कार में बैठाने की कोशिश की।

किसान संगठन के कार्यकर्ताओं ने मीडिया के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की है। जिसमे उन्होंने पहले तो साफ कर दिया कि वह पीएम मोदी और सीएम योगी से बहुत उम्मीदे लगाएं है। उनकी योजनाएं भी काफी लोभकारी है। लेकिन ऐसी योजनाओं का क्या फायदा जिनके बारे मे गरीब किसान जानता ही नही है।