Diwali 2020

मध्य प्रदेश में एक बार फिर से कोरोना वायरस संक्रमण में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। इंदौर में दिवाली के दिन लोगों ने खूब शॉपिंग की। जो शायद अब कुछ लोगों के लिए वो दिन शॉपिंग से भी ज्यादा महंगा पड़ने वाला है।

दिग्‍गज राजनीतिज्ञों में शुमार डॉ रीता बहुगुणा जोशी के लिए आतिशबाजी एक डरावने सपने में तब्‍दील हो गई है। उनकी छह साल की पौत्री किया सोमवार की शाम चार बजे प्रयागराज में स्थित अपने घर की छत पर पटाखों की आग की चपेट में आ गई।

दीपावली की ख़ुशी में चार-चांद लगाने के मंसूब के साथ चोलापुर थानाक्षेत्र के दानगंज बाज़ार में दीपावली की रात कुछ लोगों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की। इस फायरिंग का वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक पर शेयर भी किया गया।

राजधानी लखनऊ में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा पटाखों पर लगाई गई रोक के बावजूद हुई आतिशबाजी से यहां प्रदूषण बढ़ा तो लेकिन प्रकृति द्वारा दीपावली पर राहत का तोहफा के तौर पर हुई बारिश ने प्रदूषण की मात्रा को कम कर दिया।  

आज पूरे देश में दीपावली का त्यौहार मनाया जा रहा है। दीपों का पर्व होने के कारण दिवाली बहुत ही सुंदर त्योहार है। भारत के साथ ही विदेशों में भी दिवाली की झलक देखने को मिल रही है।

एसपी आरपी सिंह दीपावली की पूर्व संध्या पर खैराबाद स्थित कुष्ठ आश्रम में रहने वाले रोगियों के परिवार से मिलने पर पहुंचे थे। इस दौरान एसपी ने परिवारों के साथ दिवाली की खुशियां बांटी और बच्चों को मिठाई दी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज दुनिया ये जान रही है, समझ रही है कि ये देश अपने हितों से किसी भी कीमत पर रत्ती भर भी समझौता करने वाला नहीं है। भारत का ये रुतबा, ये कद आपकी शक्ति और आपके पराक्रम के ही कारण है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले भी दिवाली देश की सेना के जवानों के बीच मनाते रहे हैं। इस पहले पीएम मोदी जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और अन्य स्थानों पर पीएम जवानों के बीच दिवाली मना चुके हैं। जवानों को मिठाइयां खिलाते हुये की तस्वीरें अक्सर वायरल होती रही हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि सभी देशवासियों को दीपावली की हार्दिक मंगलकामनाएं। सभी को दिवाली की बधाई! यह त्योहार को और अधिक उज्ज्वल और प्रसन्नता दें। सभी लोग समृद्ध और स्वस्थ रहें।

माना जाता है कि दिवाली के दिन घर में देवी लक्ष्मी का वास होता है। ऐसे में इस दिन घर को साफ-सुथरा व सजाकर रखना चाहिए। दीपावली कई दिन का त्योहार है जो धनतेरस से शुरू हो कर भैया दूज तक चलता है।