DM

मौका था पेंशनर्स डे का। जिले  के ज़िम्मेदार डीएम इस मौके पर मौजूद थे। पेन्शनर्स की शिकायतों का ढ़ेर लगा था। लेकिन जिन्हें खामियां दूर करनी थी वो ज़िम्मेदार लापता थे। वो भी एक-दो नहीं पूरे-पूरे 38 अफसरान।

विधान सभा चुनावों के समय बीजेपी ने यूपी में बड़े-बड़े वादे किए। लेकिन जब से सीएम योगी आदित्यनाथ सत्ताधारी हुए दावों की पोल खुलने लगी है। आपको बता दें, पीएम मोदी ने विकलांग जनों को सम्मान देने के लिए दिव्यांग शब्द गढ़ा। लेकिन इससे भी उन्हें सम्मान नहीं मिल रहा।

शाहजहांपुर: सरकारी अस्पताल मे एसडीएम की पत्नी की डिलीवरी के बाद डीएम और उनकी पत्नी जिला अस्पताल बधाई देने पहुची। तभी डीएम ने अपना कार्य उस वक्त भी जारी रखा और अचानक निकल गए औचक निरीक्षण करने। डीएम के इस निरिक्षण से सीएमएस और महिला सीएमएस समेत कर्मचारी मे हङकंप मच गया। यह भी पढ़ें: पीएम …

बरेली: उत्तर प्रदेश  में  रुहेलखंड क्षेत्र  में विशेष पहचान रखने वाला चौबारी मेला का  आज से विधिवत रूप से  शुरू हो गया है। यह मेला 19 नवंबर से 27 नवंबर 2018 तक चलेगा। बरेली के जिला अधिकारी वीरेंदर कुमार सिंह ने रामगंगा चौबारी मेला  का फीता काटकर हवन पूजन कर मेले का शुभारम्भ किया। यह …

लखनऊ: लखनऊ हाईकोर्ट में 18 नवंबर को प्रदेश के सभी डीएम और कमिश्नर के साथ हाईकोर्ट के जज करेंगे बैठक। बैठक में अनाथ बच्चों के पोषण आदि से संबंधित विषयों पर होगी चर्चा और अधिकारियों को जजों के समक्ष देना होगा प्रजेंटेशन। गोमती नगर स्थित हाईकोर्ट के परिसर में प्रदेश के सारे कमिश्नर और सारे डीएम …

सुलतानपुर: सरकार ने जिले में आला अधिकारी बैठाए हैं। इन्हें बैठाया ही गया है  ताकि जनता की फरियाद सुनकर उसका निस्तारण करें। पर यहां न डीएम सुनने को तैयार हैं, न ही अन्य अधिकारी। अब सोशल मीडिया पर वायरल हुई इस तस्वीर को ही देखिए, डीएम की चौखट पर फरियाद लेकर आई इस वृद्ध महिला …

हापुड़: केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद करने के लिए अधिक से अधिक मदद के लिए लोग आगे आ रहे है और उनको हर सम्भव मदद मिल जाये उसके लिए आगे बढ़ रहे है तो वही यूपी के जनपद हापुड़ में मुस्लिम व्यापारी ने 11 लाख रुपये की धनराशि का ड्राफ्ट डीएम को सौंपा है। यह …

अमेठी: प्रदेश में योगी सरकार के बनते ही बहुत सारे आदेश पारित हुए, कुछ समय के बाद वो सब हवा हो गए। उन्हीं में से एक आदेश था थाने आने वाले हर फरियादी को वहां बैठाकर पानी पिलाया जाए और फिर उसे न्याय दिया जाए लेकिन पानी पूछना दूर की बात न्याय मिल पाना टेढ़ी …

कासगंज हिंसा के बाद वहां का वातावरण अभी सामान्य नहीं हुआ, इसके बीच फेसबुक के एक पोस्ट ने इस आग घी  ड़लने का काम किया है। राज्य के एक जिलाधिकारी के पोस्ट ने विवाद बढ़ा दिया है।कासगंज हिंसा को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पर दबाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है।बरेली के जिलाधिकारी कैप्टन राघवेंद्र विक्रम सिंह ने कासगंज घटना पर फेसबुक पर एक पोस्ट किया। रविवार की

लखनऊ : यूपी पुलिस के मुखिया का पद संभालते ही नए डीजीपी ओम प्रकाश सिंह के सामने आईएएस और आईपीएस अफसरों के बीच बढ़ने वाले टकराव से निपटने की बड़ी चुनौती होगी। सूबे में आईपीएस एसोसिएशन और पीपीएस एसोसिएशन को डीएम के प्रति जवाबदेही मंजूर नहीं है। कलेक्टर के प्रति या कलेक्टर के माध्यम से सरकार के प्रति …