doctor

महापौर जयप्रकाश डॉक्टरों से मुलाकात कर चुके हैं और उनसे हड़ताल खत्म करने बात भी कह चुके हैं लेकिन डॉक्टर अभी तक हड़ताल पर अड़े हुए हैं और उनका स्पष्ट कहना है कि जब तक वेतन नहीं तब तक कोई बातचीत नहीं होगी।

डायबिटीज यानी मधुमेह एक बेहद ही खतरनाक बीमारी है। अगर समय पर बीमारी का पता न चलें और ठीक से इलाज न हो तो आदमी की जान तक जा सकती है।

लोग डॉक्टर्स को भगवान का रूप बताते हैं, क्योंकि भगवान हर जगह नहीं हो सकता है लोगों की मदद के लिए।

जानलेवा वायरस पहले चीन के वुहान शहर में फैला और धीरे-धीरे पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया। अब इस बीच चीन के एक प्रमुख डॉक्टर ने कोरोना वायरस पर दावा किया है।

दिल्ली एम्स में 25 वर्षीय रेजिडेंट डॉक्टर ने 10वीं मंजिल से कूदकर सुसाइड कर लिया। उसे सीरियस कंडीशन में हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था।

इन झोला छाप डॉक्टरों (वे डॉक्टर जो न तो पंजीकृत हैं और न ही उनके पास उचित डिग्री है) की संस्कृति हमारी स्वास्थ्य प्रणाली के लिये काफी खतरनाक है।

महाराष्ट्र के सतारा की एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। सतारा से आंगनबाड़ी में काम करने वाली एक वर्कर अचानक से गायब हो गई।

यह सुनिश्चित किया जाए कि डाॅक्टर व नर्सिंग स्टाफ नियमित राउण्ड लें तथा पैरामेडिक्स द्वारा रोगियों की निरन्तर माॅनिटरिंग की जाए। उन्होंने सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को अपने-अपने जनपद के चिकित्सालयों का नियमित निरीक्षण करने को कहा।

कोरोना वायरस के संकट से लोगों को बचाने की कोशिश में जुटे डॉक्टर रात दिन काम कर रहे हैं। लगातार काम वह भी पीपीई किट पहने हुये। ये कोई आसान काम नहीं है। डाक्टर कहते हैं कि वायरस बचाव के लिए जरूरी पीपीई किट हमेशा पहने रहना पड़ता है।

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में डाक्टर सबसे बड़ी भूमिका में हैं। लेकिन इन डाक्टरों की कहना है कि यदि सब लोग अपनी जीवन शैली में बदलाव लाएँ तो खुद ही इस जंग को जीत सकते हैं। हमें अपनी पुरानी परंपराओं में लौटना होगा और आदतें बदलनी होंगी।