donald trump

अमेरिका सबसे बड़ी तैयारी कर चुका है। इसकी शुरुआत चीन की दिग्गज टेलीकॉम उपकरण कंपनी हुवावे और ज़ेडटीई को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा घोषित करके हो चुकी है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोनावायरस को लेकर एक बार फिर चीन पर निशाना साधा है। राष्ट्रपति ट्रंप ने मंगलवार को कहा कि जैसे-जैसे कोरोना बढ़ता जाएगा, वैसे-वैसे चीन पर मेरा गुस्सा भी बढ़ता  जाएगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का उस खबर पर बयान सामने आया है, जिसमें कहा गया था कि रूसी अधिकारियों ने गोपनीय तरीके से अफगानिस्तान में तालिबान को अमेरिकी सैनिकों की हत्या करने के लिए इनाम पेशकश की है।

कोरोना वायरस वैश्विक महामारी का प्रकोप बढ़ने के बावजूद अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव प्रचार अभियान ने गति पकड़ ली है।

कोरोना वयरस के बाद सैन्य आक्रामकता और हॉन्ग-कॉन्ग को लेकर दुनियाभर में चीन के खिलाफ गुस्सा बढ़ रहा है। चीन के हॉन्ग-कॉन्ग में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लाने के बाद अंतरराष्ट्रीय मंच पर भी उससे सवाल पूछे जा रहे हैं।

अमेरिका और चीन के बीच जारी ट्रेड डील खत्म होने की खबरों के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया है कि चीन के साथ शुरुआती व्यापार समझौता अभी बरकरार है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने H-1B वीजा सस्पेंड करने की घोषणा की है। ट्रंप के इस फैसले से भारत समेत दुनिया के तमाम देशों के आईटी प्रोफेशनल्स को एक बड़ा झटका लगा है।

महामारी के इस दौर में अमेरिका की हालत बहुत खराब है। ऐसे में कोरोना की मार से परेशान अमेरिका भारत को बड़ा झटका दे सकता है। अमेरिका को कोरोना वायरस ने बुरी तरह प्रभावित किया है, जिसके कारण वहां लाखों लोगों की नौकरी जा चुकी हैं।

भारत और चीन के बीच लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर बढ़ते तनाव के बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फिर बड़ी बात कही है।

देश और दुनिया  कोरोना से परेशान है इसी बीच कोविड-19 के साथ एक चीज जो सबसे ज्यादा  चर्चा मे रही है वो है इस दौरान ट्रंप  का बोला गया झूठ। जी हां एक सर्वे में कहा जा रहा है कि  एक महिने में ट्रंप ने 192 झूठ बोले हैं। 4 मई से 7 जून 2020 के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 192 झूठे दावे किए है।