Earthquake

चीन के सिचुआन प्रांत में सोमवार रात और मंगलवार सुबह आए भूकंप के दो शक्तिशाली झटकों से 11 लोगों की जान चली गई और 122 अन्य लोग घायल हुए हैं।

न्यूजीलैंड नागरिक सुरक्षा संगठन ने भूकंप आने के बाद शुरुआती मिनटों के लिए तटों, बंदरगाहों और छोटी नौकाओं के लिए खतरे की चेतावनी जारी की थी, लेकिन आठ मिनट बाद इस चेतावनी को वापस ले लिया।

अरब सागर में बना चक्रवाती तूफान 'वायु' तेजी से आगे बढ़ रहा है। यूं तो इसके 13 जून की सुबह 110-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरात के तट से टकराने की आशंका है, लेकिन मौसम विभाग ने आशंका जताई है कि बुधवार को भी गुजरात के तटीय इलाकों में आंधी-तूफान के साथ भारी बारिश हो सकती है।

यूएसजीएस ने कहा कि भूकंप राजधानी से करीब 40 किलोमीटर दक्षिण में आया।भूकंप को लेकर सूनामी की कोई चेतावनी नहीं जारी की गई है।

अंडमान निकोबार द्वीप समूह में बुधवार सुबह मध्य तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 5.8 मापी गई।

शनिवार सुबह अत्तराखंड और निकोबार द्वीप समूह में भूकंप के झटके महसूस किए गए। उत्तराखंड के चमोली में देर रात 1.08 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टेर स्केल पर भूकंप कि तीव्रता 3.9 दर्ज की गई।

पापुआ न्यू गिनी ने बुधवार को उत्तरी तट से दूर एक द्वीप श्रृंखला पर आए घातक 7.5 तीव्रता के भूकंप से हुए नुकसान का पता लगाने के लिए आकलन टीमों को भेजा है।

अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण ने बताया कि भूकंप का केंद्र देश के पश्चिमी हिस्से में कोस्टा रिका सीमा के पास 37 किलोमीटर की गहराई में था। राष्ट्रीय नागरिक सुरक्षा प्रणाली ने कहा कि भूकंप की वजह से चार मकानों को नुकसान पहुंचा और पांच लोग जख्मी हुए हैं। 

शिमला मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि भूकंप के झटके सुबह चार बजकर 32 मिनट पर महसूस किए गए। भूकंप का केंद्र मंडी के पूर्वोत्तर में 10 किलोमीटर की गहराई में था।

भूकंप 6.40 बजे आया, जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.3 दर्ज की गई है। य़ह झटके धडिंग जिले के नौबीसे में महसूस किए गए हैं।