Earthquake

इससे जानमाल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है। मौसम विभाग ने कहा कि चमोली और उसके आसपास के क्षेत्रों में भूकंप के झटके शाम करीब 5 बजकर 35 मिनट पर आये। भूकंप का केंद्र जिले में उत्तरपूर्व में जमीन से पांच किलोमीटर की गहरायी में स्थित था

उत्तराखंड के चमोली में अलसुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.2 मापी गई है। इसकी गहराई दस किलोमीटर रही। राज्य आपदा प्रबंधन केंद्र के अनुसार चमोली जिले में रविवार तड़के करीब 4 बजकर 26 मिनट पर भूकंप का झटका महसूस किया गया। फिलहाल कहीं से किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं है।

आज सोमवार म्यांमार-भारत सीमा क्षेत्र पर सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर 4.5 की इस भूकंप की तीव्रता रही। खबरों के अनुसार भारत मौसम विज्ञान विभाग ने दी।  फिलहाल इस भूकंप में किसी के भी हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

अल्बानिया की राजधानी तिराना में भूकंप ने भारी तबाही मचाई है। भूकंप की वजह से कई लोगों की मौत हो गई है। इसके साथ कई लोग घायल हैं। भूकंप में फंसे लोगों को बचाने का काम तेजी से हो रहा है। भूकंप में अब तक 46 लोगों की मौत हो चुकी है।

यूरोपीय देश अल्बानिया की राजधानी तिराना में मंगलवार को आए भूकंप में मरने वाले लोगों की तादाद बढ़कर 26 हो गई। जबकि 350 लोगों के घायल होने की खबर है।

कुमाऊं विश्वविद्यालय में वरिष्ठ भूवैज्ञानिक प्रो. चारु चंद्र पंत ने यह जानकारी देते हुए बताया कि उत्तराखंड नेपाल के बजांग से होकर गुजरने वाला मेन सेंट्रल थ्रस्ट मुनश्यारी, कपकोट,बैजनाथ, रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग, उत्तरकाशी होते हुए चमोली तक जाता है। इस कारण यह इलाका बहुत ज्यादा संवेदनशील है जो भूकंप के जोन 5 में पड़ता है।

दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5 मापी गई है। हालांकि अभी किसी प्रकार के नुकसान की खबर नहीं है। दिल्ली-एनसीआर के अलावा उत्तराखंड में भी भूकंप के झटके महसूस हुए हैं।