eating

भेटुआ ब्लाक के श्री का पुरवा आंगनबाड़ी केंद्र से जुड़ा है। जानकारी के अनुसार यहां तैनात आंगनबाड़ी उमा कश्यप पुत्री रामनाथ कश्यप गर्भवती महिलाओं और बच्चों को बंटने वाला पोषाहार को बग़ैर रोक टोक के अपने घर ले जाती है।

चलने-फिरने पर खून का प्रवाह प्राकृतिक रूप से अपने आप ही हमारे हाथों-पैरों की ओर मुड़ जाता है और भोजन के लिए जो पर्याप्त मात्रा में खून हमारे पाचन तंत्र को चाहिए वो नहीं पहुंच पाता। 

जयपुर :नमक दुनिया में पाया जाने वाला वो  खाद्य पदार्थ है जिसके बिना मानव जीवन जीना बेहद ही मुश्किल है,क्योंकि नमक की कमी से शरीर में हाईपोथर्मिया, लो ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता हैं।  शुगर पेशेंट को चीनी का सेवन बंद करते देखा होगा, लेकिन कभी किसी डॉक्टर को नमक को …

जयपुर: बारिश की बूंदे जहां चिलचिलाती गर्मी से राहत दिलाती है, वहीं इस मौसम में हमारा स्नैक्स खाना भी अधिक होता है। मानसून के दौरान एक कप चाय और पकौड़ा अधिकतर लोगों को पसंद होता है साथ ही यह मौसम स्ट्रीट फूड की क्रेविंग्स को भी बढ़ा देता है।  कभी-कभी बाहर का खाना खाने से …

शाहजहांपुर: यूपी के शाहजहांपुर में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब खराब आलू की टिक्की खाने से एक के बाद एक चालीस बच्चे बीमार पड़ गए। ख़राब आलू की टिक्की खाने के बाद से यहाँ कई बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई है। दरअसल, गाँव के कुछ बच्चों ने टिक्की बेचने आए ठेले से आलू की …

जयपुर: किसी भी महिला का मां बनना उसके सम्मान की बात होती है। घर परिवार व आसपास के लोग गर्भवती होने पर उसका विशेष रूप से ख्याल रखते हैं। घर के सभी सदस्य और रिश्तेदार गर्भवती महिला को खान-पान से जुड़ी कई जानकारियां और सलाह देते रहते हैं। लेकिन उन सभी सलाह के अलावा गर्भवती …

जयपुर: जो लोग मीठे के शौकीन है उनके लिए बुरी खबर है कि शक्कर या उससे बनी चीजें नहीं खानी चाहिए। शक्कर का सेवन हर दिन किसी न किसी रूप में करते ही हैं और यह आपके जीवन का एक अभिन्न अंग है। लेकिन इसकी मिठास जितनी अच्छी लगती है, उतने ही बुरे हैं इसके …

उत्तर प्रदेश के भदोही जिले की शहर कोतवाली क्षेत्र में समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय में जहरीला बिस्किट खाने से 103 बच्चे बीमार हो गए।

प्रेग्नेंसी के दौरान जो महिलाएं मछली का सेवन करती हैं, उनके बच्चे अस्थमा से मुक्त रह सकते हैं। एक नए अध्ययन के अनुसार, यह ठीक उसी प्रकार काम करता है, जिस तरह मछली के तेल की पूरक खुराक करती है।

लखनऊ: किसी भी लड़के की दिल की बात जानना आसान होता है वहीं लड़कियां हाले दिल बयां करने में कंजूसी करती है। हर लड़का अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में सब कुछ जानना चाहता है। लेकिन लड़कियां आसानी से अपने मन की बात किसी के साथ शेयर नहीं करती हैं। हालांकि ये भी सच है कि …