education department

यूपी में शिक्षा विभाग में एक के बाद एक फर्जी शिक्षिकों का खुलासा होता जा रहा है अनामिका शुक्ला का प्रकरण सामने आने के बाद हुए खुलासे में शासन के आदेश पर प्रदेश के सभी कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में शिक्षिकों के प्रमाण पत्र सत्यापन में एक और फर्जी शिक्षिका का मामला सामने आया है ।

वैश्विक महामारी की चपेट में यूपी का कन्नौज जिला भी है। इन दिनों जिला अस्पताल खून की कमी से जूझ रहा है। इस कमी को दूर करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग से जुड़े टीचरों ने मुहिम शुरू कर दी है।

सीएम सिटी में अलग-अलग समय पर परिषदीय विद्यालयों में हुई शिक्षकों की भर्ती में घोटाला सामने आया है। इन भर्तियों में कूटरचित दस्‍तावेज और दूसरे शिक्षकों के नाम, पते और पैन नंबर का इस्‍तेमाल कर नौकरी कर रहे फर्जी शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

संजय के खिलाफ अनियमितता की शिकायतें थी। बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेंद्र विक्रम सिंह अब एससीईआरटी के निदेशक की जिम्मेदारी भी संभालेंगे।संजय सपा सरकार के पसंदीदा अफसरों में थे।

उत्तर प्रदेश की वर्तमान सरकार को विरासत में बेहतर शिक्षा व्यवस्था नहीं मिली थी। शिक्षा की गुणवत्ता, अनियमित सत्र, नकल, फर्जी डिग्री, ट्रांसफर पोस्टिंग में भ्रष्टाचार आदि से संबंधित अनेक समस्याएं थी, लेकिन पिछले दो वर्षों में ऐसी अनेक समस्याओं का समाधान हुआ है।

सरकार ने मंगलवार को माध्यमिक शिक्षा विभाग के 27 अधिकारियों के तबादले कर दिए। इनमें 4 संयुक्त निदेशक व 3 उपनिदेशक स्तर के अधिकारी शामिल हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लोकभवन में उच्च शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा एवं बेसिक शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा सरकारी स्कूल 25 जून को खुल जाएं, बच्चे भले ही 1 जुलाई से आएं।

यूपी बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने शुक्रवार को बताया है कि यह सेल परिषदीय परीक्षायें 2019 से संबंधित परीक्षार्थियों की समस्याओं का निराकरण करायेगी। परीक्षार्थी हाईस्कूल-इण्टरमीडिएट परीक्षाओं में आयी अपनी समस्याओं का सम्पूर्ण विवरण अपने परिक्षेत्र से संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय में उपलब्ध कराकर समस्याओं का निराकरण कर सकते हैं।

उत्तराखंड: उत्तराखंड में पिछले दिनों दमयंती रावत का नाम सुर्खियों में रहा। शिक्षा विभाग की इस अधिकारी को लेकर उत्तराखंड में दो वरिष्ठ मंत्रियों श्रम मंत्री हरक सिंह रावत व शिक्षा मंत्री अरविंद सिंह पांडेय के बीच खुली जंग छिड़ी जिसमें जीत आखिरकार हरक सिंह रावत की हुई। शिक्षा विभाग की अधिकारी दमयंती रावत ने …

गोरखपुर: प्रदेश में योगी सरकार के 4 महीने पूरे हो गए हैं। इन 4 महीने में योगी सरकार ने बिजली-सड़क-पानी- स्वास्थ्य-शिक्षा सुविधाओं को सुधारने में कितना अपनी हनक दिखा पाई है और इसमें कितना सुधार कर पाई है? इस बात की जानकारी आपको रियलिटी चेक के जरिये बताएंगे । मुख्यमंत्री के बराबर सभी जनहित वाले …