effects

अपने ग्रहों की चाल है। नवग्रहों की चाल मानव को न केवल परेशानी में डालती है, बल्कि कभी की स्थिति विकट भी हो जाती है। आज हम आपको नवग्रहों को शांत करने का ऐसा तरीका बता रहे हैं, जिसमें आपको ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें कर आप अपने नवग्रहों को आसानी से शांत कर सकते हैं, वह भी बिना रुपये खर्च किए।

आज यानि शुक्रवार को पहला चंद्र ग्रहण लग रहा है। इस साल कुल 6 ग्रहण लगने वाले हैं जिसमें 2 सूर्य ग्रहण और 4 चंद्र ग्रहण है। पहला चंद्र ग्रहण यह ग्रहण रात 10 बजकर 37 मिनट से लेकर 11 जनवरी को देर रात 2 बजकर 42 मिनट तक बना रहेगा।

त्योहारो के साथ एक चीज और बढ़ी है वो है मौसम में बदलाव । अब सर्दी धीरे-धीरे बढ़ने लगी है। ठंड में चलने वाली सर्द हवाओं की वजह से बार-बार होने वाली स्किन के रुखेपन से बड़े हो या बच्चे सभी परेशान रहते हैं। ऐसे में अगर छोटे बच्चों की स्किन और हेल्थ से जुड़ी हुई हो, तो पेरेंट्स हर चीज़ अपनाने से नहीं चूकते हैं

आज कल कम उम्र में ही बच्चों की आंखों पर चश्मे चढ़ने लगते हैं। बच्चों पर चश्में लगने की वजह पैरेंट्स बच्चे के टीवी और मोबाइल देखने को मानते हैं। लेकिन बच्चों की आंखों की कमजोरी का कारण टीवी या मोबाइल नहीं,

कभी- कभी हम अपनी आदतों की वजह से कम उम्र में ही ज्यादा दिखने लगते है।अपनी उम्र से ज़्यादा बड़ी दिखती हैं। ये केवल जीन्स के कारण नहीं बल्कि

घर के आसपास पेड़ पौधे होना बहुत शुभ होता है, लेकिन घर की किस दिशा में कौन सा  होना चाहिए यह देखना भी जरूरी है। कुछ वृक्ष सकारात्मक ऊर्जा देते हैं और कुछ नकारात्मक। इनमें से जो पेड़ या वृक्ष सकारात्मक ऊर्जा देते हैं उन्हें घर की किस दिशा में लगाएं यह जानना जरूरी है

जिन कुछ क्षेत्रों से ग्रहण को आसानी से देखे जाने की उम्मीद है, वहां एस्ट्रोनॉट्स का जमावड़ा लगेगा। दिन खत्म होते होते ऐसे क्षेत्र, जहां से ग्रहण देखा जा सकेगा, वह पहाड़ों की छाया से ढक जाएंगे। उनकी अत्यधिक ऊंचाई के चलते ग्रहण का नजारा ज्यादा समय तक देखना चुनौतिपूर्ण होगा। 

जयपुर:आंवला  को पोषक तत्वों की खान कहा जाता है क्योंकि इसमें सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं। आंवला तो फायदा करता ही है, इसका जूस स्वास्थय के लिए और भी फायदेमंद होता है। अगर आप नियमित रुप से आंवले का जूस पीते हैं तो त्वचा में निखार के साथ-साथ  आपको अविश्वसनीय औषधीय लाभ भी मिलता …

जयपुर:ठंड में चलने वाली सर्द हवाओं की वजह से बार-बार होने वाली स्किन के रुखेपन से बड़े हो या बच्चे सभी परेशान रहते हैं। ऐसे में अगर छोटे बच्चों की स्किन और हेल्थ से जुड़ी हुई हो, तो पेरेंट्स हर चीज़ अपनाने से नहीं चूकते हैं, इसलिए अक्सर वो बच्चों की रूखी त्वचा के लिए …

जयपुर:शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से बचने के लिए शनिवार को लोग गलत पूजा करने लग जाते हैं। शनि ग्रह का नाम सुनते ही लोगों के मन में साढ़े साती व ढैय्या का विचार आने लगता है। हिन्दू धर्म शास्त्रों में न्याय के देव शनि को दण्डाधिकारी और न्यायाधीश कहा गया है। शनि देव लोगों …