election commission

चुनाव आयोग ने करीब एक घंटे तक उन सभी की बातों और आशंकाओं को सुना़, परंतु किसी तरह का कोई आश्वासन नहीं दिया। लेकिन, उन्हें इस बात का भरोसा दिया गया कि चुनाव आयोग के तीन सदस्य बुधवार की सुबह मिलेंगे।

चुनाव आयोग ने मतदान के बाद ईवीएम को मतगणना स्थलों तक पहुंचाने में गड़बड़ी और उनके दुरुपयोग को लेकर विभिन्न इलाकों से मिली शिकायतों को शुरुआती जांच के आधार पर गलत बताते हुए कहा है कि मतदान में प्रयोग की गयी ईवीएम और वीवीपैट मशीनें ‘स्ट्रांग रूम’ में पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

आयोग के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि मशीनों को मतगणना केन्द्रों तक ले जाने और रखरखाव में गड़बड़ी की शिकायतों पर संज्ञान लेते हुये संबद्ध राज्यों के जिला निर्वाचन अधिकारियों से तत्काल जांच रिपोर्ट ली गयी। जांच में पाया गया कि जिन मशीनों की शिकायत की गयी है वे रिजर्व मशीनें थीं।

उन्होंने अरोड़ा को उन स्थानों की सूची भी सौंपी, जिन पर मतदान के दौरान कथित गड़बड़ी पायी गयी। उन्होंने बताया कि यह सूची इस सीट से माकपा उम्मीदवार फुआद हलीम ने निर्वाचन अधिकारी को भी दी है।

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख बनर्जी ने कहा, ‘‘चुनाव आयोग को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि रविवार को होने वाला मतदान ‘‘केन्द्र सरकार के अनुचित हस्तक्षेप’’ और ‘‘केन्द्र में सत्तारूढ़ पार्टी के हस्तक्षेप’’ के बिना संपन्न हो।’’

कांग्रेस ने आचार संहिता के उल्लंघन के आरोपों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को क्लीनचिट देने पर असहमति जताने वाले चुनाव आयुक्त अशोक लवासा के आयोग की बैठकों में शामिल नहीं होने से जुड़ी

सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमें दुख के साथ कहना पड़ा रहा है कि चुनाव आयोग अपनी स्वतंत्रता खो चुका है। वह अपनी योग्यता, क्षमता, निर्भीकता और निष्पक्षता के लिए जाना जाता रहा है। आज जब प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा लोकतंत्र पर हमला बोला जा रहा है तो चुनाव आयोग डरा, थका और असहाय नजर आ रहा है। वह प्रजातंत्र का चीरहरण होते हुए देख रहा है।’’

पश्चिम बंगाल में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड़शो के दौरान हुई हिंसा को लेकर राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने गृह मंत्रालय और चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेजी है। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में पिछले छह चरणों में लगातार हुई हिंसा को लेकर आशंका जताई है कि सातवें चरण पर भी इसका प्रभाव पड़ सकता है।

उन्होंने कहा कि छठवें चरण में ईवीएम एवं वीवीपैट खराब होने की कम शिकायत हुई। उन्होंने कहा कि यदि अधिकारी ठीक ढंग से प्रशिक्षित रहेंगे, तो शिकायत में अवश्य कमी आयेगी।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हिंसा को लेकर चुनाव आयोग ने सख्त कदम उठाया। आयोग ने एक दिन पहले यानी कल रात 10 बजे से बंगाल की 9 लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी।