election commission

एक यूजर्स ने इस फैसले को सही बताते हुआ कहा कि "ये गलत है और इसपर चुनाव आयोग को एक्शन लेना ही चाहिए।" सोशल मीडिया पर दोनों पार्टियों के समर्थन में लोगों के रिएक्शन आ रहे हैं। एक यूजर्स का कहना है कि "वो हमारे पीएम हैं फिर इसमें क्या समस्या है, ये तो बांग्लादेशी मानसिकता है।"

बंगाल में चुनाव से पहले चुनाव आयोग ने पेट्रोल पंपों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर हटाने का आदेश दिया है। आयोग ने ये आदेश राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस की शिकायत पर दिया है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कोरोना वायरस वैक्सीन की पहली डोज लगवाई और इसके साथ ही देशभर में कोरोना वायरस के टीकाकरण का दूसरा चरण शुरू हो गया, लेकिन इसके साथ ही विवाद भी शुरू हो गया।

इस बार चुनाव आयोग सोशल मीडिया और डिजिटल मीडिया के लिए क्या कड़े कदम उठाता है। क्योंकि अभी दो दिन पहले ही सरकार ने सोशल मीडिया पर लगाम लगाने के लिए गाइड लाइन जारी की है।

आयोग की ओर से चुनाव तारीखों का एलान किए जाने के बाद ममता ने आयोग पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य में भाजपा को फायदा पहुंचाने के लिए आठ चरणों में मतदान कराए जा रहे हैं।

ममता ने चुनाव आयोग पर सवाल खड़े किये, वहीं 8 चरणों में मतदान कराने की वजह पूछी हैं तो वहीं उनके ही पार्टी के एक नेता ने इसका जवाब भी दे दिया।

पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में मतदान होगा। बंगाल में 27 मार्च को पहले चरण में मतदान होगा। दूसरे चरण में 1 अप्रैल को मतदान होगा। तमिलनाडु और केरल में महज एक चरण में मतदान होगा। मतदान 6 अप्रैल को होगा। मतगणना दो मई को कराई जाएगी। इसी तरह केरल में भी 6 अप्रैल को ही मतदान होगा।

पश्चिम बंगाल के कोलकाता स्थित मुख्यमंत्री आवास पर विशेष पूजा का आयोजन हो रहा है, यहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भी मौजूद रहने की संभावना है। आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी लगातार चुनावी मोड में हैं।

माना जा रहा है कि चुनाव आयोग की ओर से जल्द ही पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों में चुनाव तारीखों का एलान किया जाएगा। पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने पूरी ताकत झोंक रखी है और इसे प्रतिष्ठा की जंग बना लिया है।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। इन सभी राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल मई के आखीर से लेकर जून के पहले सप्ताह तक खत्म हो जाएगा।