emergency-dep

देश में अकस्मात चिकित्सा सेवा में सुधार करने के उद्देश्य से, सरकार ने 2022 तक सभी मेडिकल कॉलेजों में आपातकालीन चिकित्सा विभाग (इमरजेंसी) को जरुरी कर दिया है। जो कॉलेज इस नियम को नहीं मानेंगे। उस कॉलेज की  एमबीबीएस की  पढ़ाई मान्य नहीं होगी।