employees

बजाज ऑटो ने सैलरी में कटौती करने के विचार को वापस ले लिया है इसकी सूचना रविवार को बजाज ऑटो ने कर्मचारियों को एक लेटर भेज करकहा कि कंपनी ने अप्रैल की सैलरी में कटौती करने के प्रस्तावित फैसले को वापस ले लिया है।

केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा कर्मचारियों के डीए व अन्य भत्तों में कटौती के विरोध में आगामी 1 मई को दोपहर 12 बजे देश भर के कर्मचारी अपने घरों पर मोमबत्ती जलाकर सरकार के इस फैसले का विरोध करेंगे।

कोरोना वायरस के कारण देश भर में लॉकडाउन लागू है। सभी राज्य केंद्र के साथ मिलकर इस पर काबू पाने में जुटे हुए हैं। इस बीच कोरोना के कारण राज्यों में जिस तरह के हालात पैदा हुए हैं। वे किसी से भी छिपे हुए नहीं हैं।

सरकार कंपनियों को राहत देने के लिये कुछ बदलाव कर सकती है। सरकार कार्य के घंटों को बढ़ा सकती है, कर्मचारियों के बोनस को कम कर सकती है।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने भारत सरकार द्वारा केन्द्रीय कर्मचारियों और पेंशनधारकों को पहली जनवरी 2020, जुलाई 2020 और पहली जनवरी 2021 से दिए जाने वाली तीन महंगाई भत्ते की किस्तों को रोके जाने को निराशाजनक बताते हुए इस पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया है।

कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के चलते मौजूदा समय में मजदूरों की कमी हो गई है, जबकि रोजमर्रा के सामानों की डिमांड में तेजी से इजाफा हुआ है। इसीलिए सरकार इससे जुड़े 1948 के कानून में बदलाव पर विचार कर रही है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के कर्मचारियों के लिेए जरूरी खबर है। रिटायरमेंट फंड बॉडी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने कर्मचारियों और कंपनियों की मदद के लिए के लिए एक विशेष प्लान तैयार किया है।

कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए जिला पूर्ति अधिकारी अपने कर्मचारियों को सैनिटाइजर, मास्क वितरित किया। इस समय कोरोना वायरस जैसी भयंकर महामारी को देखते हुए आपूर्ति विभाग ने अपने कर्मचारियों को मास्क, सैनिटाइजर वितरित किया और कर्मचारियों को कोरोना से बचने का सलाह भी दिया।

कोरोना वायरस के इस संकट के चलते केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों का एनुअल परफॉर्मेंश अप्रैजल रिपोर्ट्स की प्रक्रिया शुरू करने और पूरा करने की तारीख बढ़ा दी है।

इंडस्ट्रियल सेक्टर में काम कर रहे कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। केंद्र सरकार ने कर्मचारियों पर बढ़ती महंगाई के बोझ को कम करने के लिए एक पहल शुरू की है।