epfo

6 करोड़ पीएफ खाताधारकों के खाते में बीते वित्तीय वर्ष के दौरान की ब्याज का पैसा जमा होगा। इससे पहले सितंबर में श्रम मंत्री संतोष गंगवार की अगुवाई में बैठक हुई थी जिसमें EPFO ने ब्याज को 8.15 प्रतिशत और 0.35 प्रतिशत की दो किस्तों में डालने का निर्णय लिया था।

EPFO की सितंबर में श्रम मंत्री संतोष गंगवार की अध्यक्षता में बैठक हुई थी जिसमें इस ब्याज का भुगतान दो किस्तों में करने का निर्णय हुआ था। पहली किस्त में 8.15 प्रतिशत और दूसरी किस्त में 0.35 प्रतिशत ब्याज दिया जाना था।

EPFO ने ट्वीट करते हुए ग्राहकों को जानकारी दी है कि अगर उन्होंने दिसंबर 2019 या उसके बाद अपना जीवन प्रमाण पत्र जमा किया है तो वो नवंबर में लाइफ सर्टिफिकेट जमा ना करें तो भी कोई दिक्कत नहीं है।

इस बार दिवाली के मौके पर EPFO से पेंशनर्स को बढ़ी हुए पेंशन का तोहफा मिल सकता है। कहा जा रहा है कि मिनमम पेंशन दोगुना करने घोषणा जल्द हो सकती है।

EPFO की ओर से कई नियमों में बदलाव किए गए हैं। EPFO ने कई ऐसी सुविधा शुरू की गई है, जो अब डिजिटल तरीके से किया जा सकेगा।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) खाता धारकों के लिए बड़ी खुशखबरी है। EPFO की अपने 6 करोड़ से अधिक अंशधारकों को त्योहारों से पहले बड़ा तोहफा देने की तैयारी है।

पीएफ खाताधारकों के लिए अच्छी खबर है। अब पीएफ को लेकर किसी भी समस्या के लिए पीएफ कार्यालय के चक्‍कर लगाने से छुटकारा मिलने वाला है।

इसके लिए सरकार ने EPFO के नियमों को आसान किया था, ताकि जरूरत पड़ने पर कोई भी व्यक्ति अपने अकाउंट से विड्रॉल कर सके। सरकार द्वारा दी गई इस सुविधा की मियाद 30 जून 2020 तक खत्म हो रहा है।

EPFO ने कोरोना काल के समय में बंदी से उत्पन्न होने वाली समस्याओं को ध्यान में रखते हुए 28 मार्च को कर्मचारियों को EPFO से अग्रिम निकासी की अनुमति दी थी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज प्रेस कांफ्रेंस के जरिये केंद्र के महापैकेज के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने बताया कि 20 लाख करोड़ का इस्तेमाल किन-किन क्षेत्रों में और कितनी राशि किया जाएगा।