festival

रंग-गुलाल के साथ व्यंजनों का पर्व होली मिलावट से बदरंग हो सकता है। खोये की सफेदी और सरसों के तेल का पीलापन देखकर खरीदारी करने में चूक आपकी सेहत पर खासा असर डाल सकता है इसलिए बाजार में खोया सरसों का तेल खरीदते समय असली-नकली की पहचान होना बहुत ही जरूरी है।

आज महाशिवरात्रि है। भगवान भोलेनाथ को जल, बेलपत्र, फल आदि चढ़ाने और उनके दर्शनों के लिए सुबह से ही भक्त मंदिरों के बाहर खड़े हुए हैं। जल चढ़ाने के लिए शिवालयों में भक्तों का रेला उमड़ पड़ा है।

जयपुर:नए साल जश्न अभी थमा नही है। सभी कोई अपने अपने ढ़ंग से  न्यू ईयर का स्वागत कर रहे है। साल 2019 का पहला दिन अत्यंत खास और शुभ है। क्योंकि इस दिन की शुरूआत हिन्दुओं में बेहद पवित्र माने जाने वाले दिन मंगलवार और एकादशी से हुई है।  इसी तरह साल 2019 के पहले माह …

जयपुर:25 दिंसम्बर क्रिसमस डे है। इस दिन लोगों में एक नया ही उत्साह देखने को मिलता है और इसे सभी बडी धूम-धाम से मनाते हैं। इस डे को क्रिसमस डे ही क्यों बोला जाता है ये बहुत कम लोग जानते होंगे,  इस शब्द का अर्थ बताते हैं। क्रिसमस शब्द का जन्म क्राईस्टेस माइसे अथवा “क्राइस्टस् मास” …

नई दिल्ली:शरीर से टॉक्सिन्स निकालें : इससे त्वचा अपने आप अंदर से दमकने लगेगी। तो कॉफी के बजाए गरमागरम ग्रीन टी चुनें। चाहें तो उसमें अदरक या नींबू मिलाएं, ताकि फैट जल्दी नष्ट हो सके और शरीर में मौजूद पानी की अतिरिक्त मात्रा को निकाला जा सके। अपने दिन की शुरुआत गर्म पानी में नींबू …

लखनऊ: अयोध्या में छोटी दीपावली के अवसर पर छह नवंबर को होने वाले दीपोत्सव में देश व दुनिया के नौ सौ कलाकार हिस्सा लेंगे। दक्षिणी कोरिया की प्रथम महिला किमजोंग सुक इस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहेंगी। मुस्लिम देश इंडोनेशिया के कलाकार रामलीला की प्रस्तुति देंगे तो दूसरी ओर श्रीलंका, रूस व त्रिनिदाद …

पूनम नेगी जीवन रस का सामूहिक गान भारतीय त्योहारों की मूल संवेदना है। आर्य संस्कृति की महत गरिमा से मंडित आलोक पर्व दीपावली युगों-युगों से सभ्यता के घाटों को प्रदीप्त करता रहा है। वैदिक काल में यह प्रकाश अग्नि रूप में था जो बाद में मंदिर के आरतीदीप के रूप में प्रतिष्ठित हो गया। इस …

तिरुवनंतपुरम: केरल का एक प्रमुख त्योहार है ओणम। फसलों का त्योहार कहा जाने वाला ओणम में प्रत्येक घर के आंगन में फूलों की पंखुड़ियों से सुन्दर-सुन्दर रंगोलिया (पूकलम) डाली जाती हैं। ऐसे में शनिवार (25 अगस्त) को ओणम है लेकिन इस बार त्योहार धूमधाम से नहीं मनाया जाएगा। यह भी पढ़ें: केरल बाढ़ : अब तक …

संजय तिवारी भारत की सनातन परंपरा पर्व प्रधान है। ये पर्व सृष्टि के क्रमिक विकास के वार्षिक पड़ाव हैं। प्रति वर्ष आकर ये जीवन के विकासक्रम को संस्कारित करते हैं और आगे अपने धर्म के निर्वहन की प्रेरणा भी देते हैं। इन पर्वों में से ही एक महत्वपूर्ण पर्व है रक्षा सूत्र बंधन। यह अत्यंत …

चमोली: उत्‍तराखंड के चमोली में एक ऐसा मंदिर है। जहां साल में सिर्फ एक बार रक्षाबंधन के दिन ही कपाट खुलते हैं। इस मंदिर को भगवान बंशीनारायण के मंदिर के नाम से जानते हैं। इस मंदिर में सालभर में केवल एक दिन ही पूजा होती है। यह मंदिर समुद्रतल से 12 हजार फीट की ऊंचाई …