festival

लखनऊ: हर साल 25 दिसंबर को क्रिसमस बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। बड़े दिन के आगाज के साथ ही लोग नए साल के जश्न में डूब जाते हैं। प्रभु यीशु के जन्म लेने के साथ ही लोगों में खुशी की लहर दौड़ जाती है। क्रिसमस की दस्तक उसकी शुरुआती रात से ही देने लगती …

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि प्रत्येक नागरिक को शान्तिपूर्ण तरीके से त्यौहार मनाने का अधिकार है। अधिकारी त्यौहार मनाने की अनुमति देने में हीलाहवा

नई दिल्ली में युवा उत्कर्ष साहित्यिक मंच ने अपना चतुर्थ अखिल भारतीय साहित्य महोत्सव विगत दिनों रेलवे अधिकारी क्लब में आयोजित किया। यह आयोजन जितेन्द्र निर्मोही (वरिष्ठ साहित्यकार,कोटा राजस्थान ) की अध्यक्षता में हुआ जिसमें मुख्य अतिथि डॉ. इंदु शेखर ‘तत्पुरुष’ (अध्यक्ष ,राजस्थान साहित्य अकादमी उदयपुर ) थे। कार्यक्रम में प्रमुख अतिथि के रूप में …

ब्यूरो देहरादून। देश भर में मनाई जाने वाली दीपावली के एक महीने बाद पहाड़ों में एक और दिवाली मनाई जाती है। इस साल भी जौनपुर, रंवाई, जौनसार सहित पूरे पहाड़ में यह बग्वाल धूमधाम से मनाई गई। बीते १९ नवंबर को जौनपुर के बग्वाल में रात भर ढोल नगाड़ों की थाप पर लोगों ने लोक …

सहारनपुर: हिंदू धर्म में किसी भी त्योहार और उत्सव पर घर में रंगोली बनाना, स्वास्तिक बनाना और मांडने बनाना आदि का रिवाज है। ये प्रतीक चिन्ह जिनमें नदी, इंद्रध्वज, स्वास्तिक, चन्द्रमरू आदि हैं। सभी बहुत शुभ माने जाते हैं। कई खुदाइयों में ऐसे अवशेष मिले, जिनमें तीन से चार हजार सालों पहले भी लोग अपने …

  दीपावली या दिवाली खुशी और उल्लास का पर्व है। प्रकाश का पर्व है। धनतेरस से शुरू होकर पांच दिन तक चलने वाले इस पर्व पर अलग अलग देवी देवताओं का पूजन किया जाता है। पंच दिवसीय पर्व यमद्वितीया को सम्पन्न होता है। इस दिन महिलाएं अपने भाइयों को तिलक लगाकर उनके लिए मंगलकामना करती …

लखनऊ : माताजी को पुष्प में कमल व गुलाब प्रिय है। फल में श्रीफल, सीताफल, बेर, अनार व सिंघाड़े प्रिय हैं। सुगंध में केवड़ा, गुलाब, चंदन के इत्र का प्रयोग इनकी पूजा में अवश्य करें। अनाज में चावल तथा मिठाई में घर में बनी शुद्धतापूर्ण केसर की मिठाई या हलवा, शिरा का नैवेद्य उपयुक्त है। …

सहारनपुर: दीवाली हिंदुओं का सबसे प्रतिभाशाली धार्मिक व आध्यात्मिक त्योहार है, जिसे सब मिल कर रोशनी व खुशियों से मनाते हैं। घर-घर में प्रकाशमय वातावरण होने से दिन-रात में कोई फर्क पता नहीं चलता, तभी इसे दीपोत्सव भी कहते हैं। अमीर हो या गरीब सभी बहुत धूमधाम से मनाते हैं। दीवाली का उद्देश्य मिल-जुल कर …

हेलमेट पहनकर वाहन चलाना जान-माल की सुरक्षा की गारंटी होता है। लेकिन, फिर भी अधिकतर लोग ट्रैफिक पुलिस के इस नियम का उल्‍लंघन करने से नहीं चूकते हैं।

लखनऊ: दीपों का पर्व दीपावली जैसे-जैसे नजदीक आता जा रहा है, वैसे-वैसे बाजारों की रौनकें और बढ़ती जा रही हैं। यह भी पढ़ें : इन 9मंत्रों का जरूर करें जाप, इस दीवाली होगा आपका उद्धार वहीं इस त्यौहार पर प्रमुख रूप से पूजे जाने वाले भगवान गणेश और मां लक्ष्मी की मूर्तियां भी कारीगर पूरे जोश …