film

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव पर फिल्म बन रही है। मुलायम सिंह यादव की भारतीय राजनीति में एक कद्दावर नेता के रूप में पहचना है।

वर्ल्ड रिफ्यूजी डे ( विश्व शरणार्थी दिवस)हर साल 20 जून को मनाया जाता है। यह दिवस उन लोगों के साहस, शक्ति और संकल्प के प्रति सम्मान जताने के लिए है जो हिंसा, संघर्ष, युद्ध और प्रताड़ना के चलते अपना घर छोड़ने को मजबूर हो गए हैं या यूं कहें जो लोग अपना देश छोड़कर दूसरे देश में शरण लेने को मजबूर हो गए हैं। शरणार्थियों की परिस्थितियों पर लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है ताकि इस समस्या का हल निकाला जा सके।

34 साल की उम्र में सुसाइड कर बेहतरीन एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने बॉलीवुड समेत सबको चौंका दिया है। उन्होंने टीवी से एक्टिंग करियर की शुरुआत की और फिर बड़े पर्दे पर अपनी एक्टिंग व टैलेंट का लोहा मनवाया,

कोरोना के कहर के बीच अमिताभ बच्चन अभिनीत गुलाबो-सिताबो रिलीज हो गई।  शूजीत सरकार की यह दर्शकों को  मैसेज देने में कामयाब रही है।  ना घर के ना घाट और लालच बुरी बला है इन दो मुहावरों को चरितार्थ करती इस फिल्म ने इसके माध्यम से बहुत बड़ा संदेश दिया है

कोरोना का प्रकोप पूरी दुनिया में है। दुनिया के कई शक्तिशाली देश इस महामारी की गिरफ्त में हैं। भारत के साथ-साथ, चीन, अमेरिका जैसी महाशक्तियों ने जहां कोरोना के सामने घुटने टेक दिए हैं तो वहीं अब इसके खत्म करने के लिए मिलकर एक साथ उपाय ढूंढे जा रहें हैं।

फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे 90 के दशक की ब्लॉकबस्टर फिल्म है। इस फिल्म ने सफलता के कीर्तिमान बनाए। काजोल, शाहरुख और आदित्य चोपड़ा की झोली में एक यादगार फिल्म बनकर रहे। मुंबई के एक थिएटर में यह फिल्म रिलीज डेट अब तक लगी थी।

फिल्म निर्माताओं के फैसले से मल्टीप्लेक्स और थियेटर मालिक बेहद नाराज भी हैं। ‘आईनोक्स’ ने तो फिल्म निर्माताओं को सबक सिखाने की चेतावनी भी दे डाली है।

कोरोना के चलते देशभर में लॉकडाउन लगा हुआ है। कोई भी घर से बाहर नहीं निकल पा रहा है और काम करना काफी लोगों के लिए बंद है। इस समय बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री पर ताला लगा हुआ है।  कई फिल्मों की शूटिंग कैंसिल हो चुकी है और कई फिल्मों की रिलीज को आगे बढ़ा दिया गया है।

आज 1 अप्रैल है।मूर्ख दिवस। लेकिन कोरोना वायरस के चलते इसे  नहीं मनाया जा रहा है। एक अप्रैल को ये गाना सभी की जुबान पर रहता है 'अप्रैल फूल बनाया तो उसको गुस्सा आया, इसमें मेरा क्या कसूर जमाने की है भूल जिसने दस्तूर बनाया '  april fool यानि 1 अप्रैल।

भारत के सबसे अच्छे कप्तानों में सौरव गांगुली को गिना जाता है। गांगुली को टीम इंडिया में जीत का जज्बा भरने वाला लीडर कहा जाता है। वो गांगुली ही थे, जिन्होंने टीम इंडिया को विदेश में जीतने का हौसला दिया और अब खबर आ रही है कि उनकी जिंदगी का यही सफर अब फिल्मों में दिखने वाला है।