Finance Minister Nirmala Sitharaman

पूर्वी लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के चल रहे जबरदस्त तनाव को लेकर कांग्रेस पार्टी सांसद राहुल गांधी ने देश की केंद्र सरकार जोरदार हल्ला बोला है। सांसद राहुल गांधी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के एक बयान पर सरकार के ऊपर तंज कसा है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को बैंको और एनबीएफसी (गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों) के प्रमुखों के साथ बैठक की। यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई। उन्होंने सभी बैंकों से कहा कि वो जल्द से जल्द रिजॉल्युशन प्लान लागू करें।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने जीडीपी में गिरावट, बेरोजगारी और राज्यों को जीएसटी के बकाये से जुड़े आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि 'आज देश में चारों ओर आर्थिक तबाही का घनघोर अंधेरा है।

आरबीआई ने मार्च में तीन महीने के लिए मोरेटोरियम (लोन के भुगतान में मोहलत) सुविधा दी थी। यह सुविधा मार्च से 31 मई तक तीन महीने के लिए लागू की गई थी। बाद में आरबीआई ने इसे तीन महीनों के लिए और बढ़ाते हुए 31 अगस्त तक के लिए लागू कर दिया था।

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बनर्जी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ विवादित बयान देते हुए, उनकी तुलना जहरीले सांप से की है, जिस पर बीजेपी की प्रतिक्रिया सामने आई है।

केंद्र सरकार ने पिछले महीने एफडीआई नियमों को सख्त किया है। लेकिन कुछ मामलों जैसे डिफेंस, टेलिकॉम, मीडिया, फार्मास्युटिकल्स और इंश्योरेंस को छोड़ दें तो एफडीआई यानी विदेशी निवेश को सरकार की मंजूरी लेने की जरूरत नहीं होती थी।

गुरुवार यानी आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आधार आधारित ई-केवाईसी वाला इस्टेंट पैन सेवा की शुरुआत की। बता दें कि इस बात की घोषणा पहले ही बजट 2020 में की गई थी।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज 20 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज की तीसरी किस्त का एलान करेंगी। इसके पहले वे बुधवार और गुरुवार को दो बड़े राहत पैकेज का एलान कर चुकी हैं।

बीते सोमवार को देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था। इस आर्थिक पैकेज में बारे में बुधवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई बड़े ऐलान किये हैं।