firing

जम्मू-कश्मीर में सटे नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान ने बीते 24 घंटे से रुक-रुककर भारी गोलाबारी कर रहा है। पाकिस्तानी सेना के जवान रुक-रुककर पुंछ जिले में एलओसी के पास वाले रिहाइशी इलाकों और सेना की पोस्टों को निशाना बना रहे हैं।

2 नवंबर,1990। अयोध्या के इतिहास में यह दिन निहत्थे कारसेवकों पर गोली चलाकर उनकी हत्या करने के लिए याद किया जाता है। इस दिन अयोध्या की सड़कों, मन्दिरों और छावनियों में उन कारसेवकों के खून की बूंदे गिरी थीं जिन्हें अर्धसैनिक बलों ने गोली मारी थी।

पाकिस्तान ने मंगलवार को भारतीय सेना से अपील कि वह अपनी कार्रवाई रोक दे। पाक सेना ने कुछ विदेशी अधिकारियों और पत्रकारों को उस क्षेत्र में ले गई जहां भारतीय सेना ने आतंकी कैंपों पर कार्रवाई की थी।

जब पाकिस्तान की ओर से फायरिंग शुरू की गई, तब बच्चों के स्कूल की छुट्टियां हुई थीं। मगर फायरिंग के कारण 12 बच्चे बीच में ही फंस गए। अब इन बच्चों को सुरक्षित निकालने का प्रयास किया जा रहा है।

सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि दो संदिग्ध ने बटोट में NH 244 पर एक बस को रोकने की कोशिश की। ड्राइवर ने गाड़ी नहीं रोकी और निकटतम सेना चौकी को सूचना दी।

भारतीय सेना की चौकियों को पाकिस्तानी सेना लगातार निशाना बनाकर फायरिंग कर रही है। जानकारी के अनुसार, रिहायशी इलाकों में पाकिस्तान की ओर से मोर्टार शेल दागे गए हैं। भारतीय सेना पाकिस्तान की ओर से हो रही फायरिंग का जवाब दे रही है।

स्थानीय पुलिस ने बताया कि फायरिंग की यह घटना मिडलैंड के पास ओडेसा इलाके में हुई है । वहीं वारदात को अंजाम देने वाले एक बंदूकधारी को सिनर्जी मूवी थिएटर के पास मार दिया गया है, उसकी उम्र 30 साल बताई जा रही है।

पाकिस्तानी सेना की तरफ से हुई गोलाबारी पर भारत की जवाबी कार्रवाई में उड़ी के सामने सीमा पार नीलम घाटी में भारी तबाही हुई है। सूचना ये है कि भारतीय कार्रवाई में पाकिस्तान की कई चौकियां पूरी तरह तबाह हो गई हैं। वहीं, तीन पाक सैनिक भी मारे गए हैं।

नीदरलैंड के यूट्रेक्ट शहर में गोलीबारी की वारदात में 1 की मौत हो गई वहीं, कई लोगों के ज़ख्मी होने की खबर है। यूट्रेक्ट शहर में सोमवार को एक ट्राम में अंधाधुंध गोलीबारी किए जाने की घटना में कई लोग घायल हो गए हैं।

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में ग्राम प्रधान व पुत्र पर अंधाधुंध फायरिंग करने की घटना सामने आई है। फायरिंग करने का आरोप गांव के पूर्व प्रधान पर लगा है। दो दिन पहले ग्राम सभा जमीन की नाप को लेकर विवाद हुआ था। उस वक्त पूर्व प्रधान ने ग्राम प्रधान को देख लेने की धमकी दी थी।