fish

मोक्षदायिनी नदी गंगा अपनी गहराईयों में कई राज समेटे हुए हैं। अब इस बीच गंगा एक ऐसी मछली मिली है जिसमें वैज्ञानिकों को चिंता में डाल दिया है। गंगा में हजारों किलोमीटर दूर साउथ अमेरिका के अमेजॉन नदी में पाई जानी वाली सकर माउथ कैटफिश गंगा नदी में मिली है।

लॉकडाउन के बीच मछली खाने वालों के लिए अच्छी खबर है। अब आपके घर पर मछली की होम डिलिवरी होगी। मत्सय पालक विकास अभिकरण विभाग ने रविवार से कई इलाकों में मछली की होम डिलिवरी शुरू करवाने को कहा है

कानपुर के रोड पर मछलियां तैरने लगी। अचानक राहगीरों ने मछलियों को अपने झोले में भरने लगे। जिसको जहां से खबर मिली सब मछली ले जाने के लिए आ गये। बताया जा रहा है कि थोड़ी देर में बहुत भीड़ लग गई, जिससे वहां बड़ा जाम लग गया।

जयपुर: छोटे बच्चों से लोग ज्यादा उम्मीद नहीं रखते है। लेकिन आजकल बाली उम्र में बच्चे इतना काम कर लेते है कि बड़े भी उन्हें देखकर दांतों तले उंगली दबा लेते है। ऐसा ही कुछ ऑस्ट्रेलिया  में 8 साल के एक बच्चे जेडेन मिल्लौरो ने 314 किलो की शार्क मछली को पकड़कर सबको दंग कर दिया …

उत्तर प्रदेश में एक मछली को देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई है। आपको जानकर हैरान हो जाएंगे कि इस मछली के लिए लगो 5 लाख रुपए देने के लिए राजी हैं। दरअसल यह मामला उत्तर प्रदेश के कैराना का है। इस मछली के पेट पर 'अल्‍लाह' लिखा हुआ है जिसकी वजह से यह अद्भुत मछली लोगों के आकर्षण का केंद्र बन गई है।

नई दिल्ली : टीबी ऐसी बीमारी है जिसमें सेहत का खास ख्याल रखा जाए तो रोग में जल्द सुधार हो सकता है। माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरक्लोसिस बैक्टीरिया से होने वाली इस बीमारी के लिए विशेषज्ञ मानते हैं कि रोगी को डाइट में खास चीजें शामिल करनी चाहिए। ऐसे खाद्य पदार्थ लें जिनमें कैलोरी कम हो और पौष्टिक …

जयपुर: घर- बाहर सब्जियां बनाते, पकौड़े तलते तो आपने हजारों लोग देखें होंगे। कईयों को तो तलते वक्त थोड़ी सी लपरवाही पर जलते हुए भी देखा होगा, लेकिन हम आज आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बता रहे है ,जो खौलते तेल में अंगुलियों को डूबो कर पकौड़े निकलाते है और उनके हाथों को …

जयपुर:मछली को खाद्यान्न के तौर पर शामिल करना अच्छे स्वास्थ्य का सूचक माना जाता हैं। देश में भी मछली को कई जगहों पर भोजन के रूप में खाया जाता हैं। खासकर चीन और जापान में मछली को बहुतायत रूप से भोजन में शामिल किया गया हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी मछली के बारे …

प्रेग्नेंसी के दौरान जो महिलाएं मछली का सेवन करती हैं, उनके बच्चे अस्थमा से मुक्त रह सकते हैं। एक नए अध्ययन के अनुसार, यह ठीक उसी प्रकार काम करता है, जिस तरह मछली के तेल की पूरक खुराक करती है।