G7 Summit

चीन के साथ सीमा विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप में बातचीत हुई है। इस दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी को जी-7 सम्मेलन के लिए न्योता दिया।

कोरोना संकट के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह जी-7 समिट को स्‍थगित करने जा रहे हैं। ट्रंप ने कहा कि वह फिलहाल सितंबर 2020 तक जी-7 सम्मेलन को टाल रहे हैं।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने जी-7 शिखर सम्मेलन के आयोजन को लेकर बड़ा बयान दिया है। ट्रंप ने कहा कि जी-7 शिखर सम्मेलन का आयोजन उनके रिजॉर्ट ‘ट्रंप नेशनल डोरल’ में नहीं होगा।

प्रधानमंत्री मोदी संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन की यात्रा करने के बाद जी-7 समिट में हिस्सा लेने फ्रांस पहुंचे थे । समिट से इतर प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अलग से मुलाकात भी की । इन दोनों नेताओं के बीच कश्मीर मुद्दे पर बातचीत हुई । बैठक के दौरान भारत ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया कि इसमें वे किसी तीसरे देश का हस्तक्षेप नहीं चाहता ।

जी-7 समूह शिखर सम्मेलन फ्रांस में हो रहा है। इस सम्मेलन में भारत को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-7 शिखर सम्मेलन में शिरकत की है। यह दुनिया में भारत की बढ़ती ताकत को दिखाता है। आई जानते हैं जी-7 क्या है और इसके सदस्य देश कौन-कौन हैं और यह क्या करता है?

फ्रांस में जी-7 शिखर सम्मेलन हो रहा है। इस दौरान सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बैठक हुई। इस मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने साफ कहा कि भारत और पाकिस्तान के मुद्दे द्विपक्षीय है। इसके लिए हमें किसी अन्य देश की जरूरत नहीं है।

सम्मेलन में वह पर्यावरण के वैश्विक ज्वलंत मुद्दों, जलवायु और डिजिटल बदलाव पर बोलने के साथ विश्व नेताओं से मुलाकात करेंगे । सात अमीर मुल्कों के इस समूह (G-7) की बैठक में भारत विशेष आमंत्रित सदस्य है ।

जम्मू कश्मीर अनुच्छेद 370 व 35A खत्म करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संयुक्त राष्ट्र के महासचि के बीच यह पहली मुलाकात है।