ganga

हमें अपने वर्तमान और भविष्य को स्वास्थ बनाना है तो गंगा की अविरलता सुनिश्ति करने के लिए जिन चार बांधों पर निर्माण कार्य चल रहा है। जबतक की गंगा की अविरलता सुनिश्चित करने वाला पर्यावरणीय प्रवाह का डिजाइन तैयार न हो इन्हें तुरन्त प्रभाव से रोकना चाहिए।

जलपुरुष राजेंद्र सिंह कहते हैं कि भारत सरकार अपने राष्ट्रीय प्रतीकों को बचाने की चिंता नहीं करेगी तो कौन करेगा? भारत के संत और समाज के बिना सरकार उसे नहीं सुनेगी तो, सरकार को भी समय आने पर कोई नहीं सुनेगा। अच्छा यही है कि सरकार सुनवाई करे।

उत्तराखंड की पावन भूमि हरिद्वार की सीमाओं को 20 जुलाई तक के लिए सील कर दिया गया है। इस दौरान सोमवार को सोमवती अमावस्या भी पड़ेगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर का काम तेजी हो रहा है। पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बन रहा यह कॉरिडोर का अपना आकार लेने लगा है।

वैसे तो गंगा नदी में जल जीवो के शिकार पर बराबर प्रतिबंध चल रहा है लेकिन लॉक डाउन के दौरान तो पूरी तरह से नाव भी चलाना गंगा में प्रतिबंधित है।

शिवरात्रि के पहले शिव की नगरी बनारस में भक्तों का रेला उमड़ने लगा है। शहर शिवमय हो चुका है। मंदिरों को आकर्षक तरीके से सजाया जा रहा है तो शहर में सफाई अभियान तेज कर दिया गया है। जिला प्रशासन ने भी इस बार खास तैयारी की है।

आशुतोष सिंह वाराणसी। गंगा की सफाई को लेकर ‘नमामि गंगे योजना’ के तहत केंद्र की भाजपा सरकार करोड़ों रुपये खर्च कर चुकी है। लेकिन पांच साल गुजर जाने के बाद भी गंगा में कोई ठोस बदलाव नहीं दिख रहा है। 14 दिसम्बर को कानपुर में राष्ट्रीय गंगा परिषद की बैठक में भाग लेने पहुंचे प्रधानमंत्री …

केंद्र सरकार की लाख कोशिशों के बावजूद गंगा नदीं में प्रदूषण कम होता नहीं दिख रहा है। अब गंगा के उद्गम स्थल के नजदीक गंगोत्री में खतरनाक बैक्टीरिया मिले हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि सामान्य एंटीबायोटिक से ज्यादा ताकतवर हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए वाराणसी से स्पेशल स्टीमर (बजरा) को मंगाया गया है। इस स्टीमर को काशी के गोलू मांझी चलांएगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बजरा में बैठकर गंगा की अविरलता को परखेगें।

नेशनल गंगा काउंसिल की पहली बैठक में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को कानपुर पहुंचे। एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री योगी और यूपी बीजेपी के नेताओं ने पीएम मोदी का स्वागत किया। पीएम मोदी ने यहां गंगा को अविरल और निर्मल बनाने के लिए नमामि गंगे प्रोजेक्ट की समीक्षा की।