gochar

गुरु मकर में प्रवेश कर चुके हैं। मकर राशि में गुरु, मंगल और शनि का यह महासंयोग चार मई तक बना रहेगा। इसके बाद फिर 30 जून को वक्री होकर दोबारा धनु राशि में प्रवेश कर जाएंगे। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बृहस्पति ग्रह को ज्ञान, सत्कर्म और गुरु का कारक माना जाता है। ऐसे में आइए जानते हैं गुरु के इस राशि परिवर्तन का जून तक सभी राशियों पर कैसा पड़ेगा असर। 

जयपुर:सूर्य ग्रह गोचर 16 दिसंबर 2018 यानि रविवार को सुबह 9 बजकर 25 मिनट पर वृश्चिक से धनु राशि में प्रवेश कर रहे हैं और 29 दिसबंर 2018 यानि शनिवार को 11 बजकर 25 मिनट तक इसी में स्थित रहेंगे। वहीं मंगल 23 दिसंबर 2018 यानि रविवार को 1 बजकर 20 मिनट पर कुंभ से …

मेष कुछ रचनात्मक करने के लिए अपने दफ़्तर से जल्दी निकलने की कोशिश करें। बैंक से जुड़े लेन-देन में काफ़ी सावधानी बरतने की ज़रूरत है। संबंधी आपके उदार स्वभाव का ग़लत फ़ायदा उठाने की कोशिश करेंगे। चौकन्ने रहें, नहीं तो बाद में आप ठगा हुआ महसूस करेंगे। उदारता एक हत तक ही ठीक है, लेकिन …

जयपुर:धन लाभ के कारक शुक्र का तुला राशि में गोचर हुआ है। यह शुक्र ग्रह का साल का आखिरी गोचर है। ज्योतिष शास्त्र में शुक्र ग्रह अत्यधिक महत्व रखता है। विलासिता से लेकर कला सभी के लिए शुक्र का मजबूत होना बहुत जरूरी है। शुक्र मीन राशि में उच्च और कन्या राशि में नीच माना …

जयपुर: वृश्चिक राशि में मंगल का गोचर 17 जनवरी 2018 को हो रहा है। मंगल ग्रह को ज्योतिष शास्त्र में अत्यधिक क्रोधी ग्रह की संज्ञा दी गई है। इसके अलावे मंगल ग्रह को उग्र, आवेश का भी प्रतीक माना गया है। ज्योतिष शास्त्र में मंगल ग्रह को लाल ग्रह के तौर पर भी जाना जाता …

जयपुर: राशिफल 2018 के अनुसार केतु ग्रह का पिछले दिनों मकर राशि में गोचर हुआ है। केतु ढाई साल तक मकर राशि में ही रहेंगे। केतु का यह परिवर्तन सभी राशियों के लिए विशेष परिवर्तन लेकर आएगा। साथ ही कुछ राशियों के जातकों का भाग्य चरम पर रहेगा। आगे की स्लाइड्स में जानिए इन राशियों …

सहारनपुर :  वैदिक ज्योतिष में शुक्र भौतिक सुख-सुविधा, प्रेम, विवाह एवं कला आदि का कारक है। शुक्र के शुभ प्रभाव से भौतिक सुखों की प्राप्ति होती है। यह वृषभ एवं तुला राशि का स्वामी होता है। वहीं बुध एवं शनि इसके मित्र ग्रह हैं। ज्योतिषचार्य अनिल शाह के अनुसार शुक्र ग्रह 20 दिसंबर 2017 को शाम …

जयपुर:  सूर्य को आत्मा श्रेष्ठ ग्रह कहा गया है। सूर्य सृष्टि को चलाने वाले एक प्रत्यक्ष देवता हैं। नवग्रहों में सूर्य को राजा की उपाधि मिली है। सूर्य  से ही के सभी ग्रहों को प्रकाश मिलता है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक सूर्य देव आत्मा, स्वास्थ्य, उदारवादी जीवनशैली और पिता का प्रतिनिधित्व करते हैं। कुंडली में …

जयपुर: शुक्र ग्रह का कन्या राशि में गोचर होने वाला है। शुक्र ग्रह का यह गोचर 3 नवंबर को शुक्रवार की रात 12 बजकर 12 मिनट पर होगी। कन्या राशि में होने वाला शुक्र का यह गोचर 26 नवम्बर तक रहने वाला है। शुक्र ग्रह के इस गोचर से सभी 12 राशियों पर अलग-अलग प्रभाव …

जयपुर: शुक्र ग्रह यानि सुख-समृद्धि का कारक। यानि, रोमांस, लग्जरी और सुख-समृद्धि का ग्रह। जिस जातक की कुंडली में शुक्र की स्थिति अनुकूल होती है, उसे जीवन में कभी धन, प्रेम संबंधी परेशानियों नहीं आती। शुक्र ग्रह, जातक को ख्वाहिशें पूरी करने की दिशा दिखाता है, उसे विदेश यात्रा करवाता है और सभी सुख-सुविधाएं लाकर …