Governor

जम्मू-कश्मीर राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों (जम्मू-कश्मीर और लद्दाख) में बांटने और आर्टिकल 370 के प्रावधानों को हटाने संबंधी विधेयक संसद में बहुमत से पारित हो गया है। मोदी सरकार ने इस विधेयक को पहले राज्यसभा और बाद लोकसभा में पेश किया था।

उसकी अपेक्षा यदि कोई पुस्तक या खाद्य वस्तु आदि हो तो वह जरूरतमंद बच्चों को भी भेजी जा सकती है। इससे पूर्व भी वे राजभवन मध्य प्रदेश में खाद्य वस्तुओं एवं किताबों को अनाथालय, वृद्धाश्रम और मलिन बस्तियों के बच्चों को उपहार स्वरूप भेजती रही हैं।

प्रदेश की मनोनीत राज्यपाल आनंदीबेन पटेल 29 जुलाई को अपराह्न 12.30 बजे राजभवन के गांधी सभागार में राज्यपाल पद की शपथ लेंगी। इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति गोविन्द माथुर मनोनीत राज्यपाल को शपथ दिलायेंगे।

श्रीनगर : जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक अपने बयानों के कारण बीच-बीच में विवादों में घिरते रहे हैं। हाल में उन्होंने एक बार फिर भाषण में ऐसी बात कह दी जिसे लेकर बड़ा विवाद खड़ा हो गया है। इसे लेकर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और कांग्रेस ने राज्यपाल पर हमला बोला। बाद …

फागू चौहान का जन्म आजमगढ़ के शेखपुरा में एक जनवरी, 1948 को हुआ था। उनके पिता का नाम खरपत्तु चौहान है। उनकी पत्नी का नाम मुहारी देवी है। उनके तीन लड़के और चार लड़कियां हैं। पिछड़ी जाति से आनेवाले फागू चौहान वर्ष 1985 में पहली बार दलित किसान मजदूर पार्टी से घोसी विधानसभा से विधायक बने।

आनंदीबेन शाकाहारी हैं और उन्हें पक्षियों से बहुत लगाव है और बागवानी में अपना समय बिताना उन्हें बहुत अच्छा लगता है। वे एक मितव्ययी जीवन शैली को अपनाती हैं तथा जबरदस्त प्रशासनिक दक्षता के लिए जानी जाती हैं।

उत्‍तर प्रदेश सहित देश के 6 राज्‍यों के राज्‍यपाल बदल दिए गए हैं। गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल को उत्‍तर प्रदेश का राज्‍यपाल नियुक्त किया गया है। वे राम नाइक की जगह लेंगी। आनंदीबेन इस समय पड़ोसी राज्‍य मध्‍यप्रदेश की राज्‍यपाल हैं।

यूपी के राज्यपाल रामनाईक का कार्यकाल अगले महीने यानी कि 21 जुलाई को खत्म हो रहा है। अब सवाल इस बात का है कि रामनाईक का कार्यकाल अगले पांच सालों के लिए क्या बढ़ाया जाएगा अथवा यूपी को कोई नया राज्यपाल मिलेगा।

राज्यपाल राम नाईक की अध्यक्षता में रविवार को राजभवन में आयोजित कुलपति सम्मेलन में विश्वविद्यालयों में वित्तीय संसाधन के संबंध में राज्यपाल ने तीन सदस्यीय कुलपतियों की समिति गठित की है, जिसमें कुलपति, लखनऊ विश्वविद्यालय, कुलपति, बांदा कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय तथा कुलपति, चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कानपुर सदस्य होंगे जो अपनी रिपोर्ट राज्यपाल को प्रस्तुत करेंगे।