Grasshopper

जिले में आज शाम कृषि विज्ञान केंद्र सोहना सिद्धार्थनगर के गांव सोहना नत्थरदेवरिया कटरियाबाबू बूढ़हूं के आसपास टिड्डियों के दल को देखा गया। जिसको पादप...

बीते कुछ समय से उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों में टिड्डी दल आने का शोर सुनाई दे रहा था। जिसके चलते जिला प्रशासन से सरकार भी चिंतित है। साथ ही तमाम जिलों...

चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने कहा है कि यदि दूसरे देशों पर हुए टिड्डियों के हमले के इतिहास को देखा जाए तो पता चलता है कि...

पाकिस्तान से आने वाले टिड्डी दल ने पूर्वान्चल के आसमान में डेरा डाल दिया है। गुरुवार को वाराणसी, चंदौली, ग़ाज़ीपुर, भदोही सहित आधा दर्जन जिलों में टिड्डियों को देखा गया...

उत्तर प्रदेश के किसानों के लिए बुरी खबर है। पाकिस्तान से आये टिड्डी दल का खतरा अभी टला नहीं है। टिड्डियों के दो दलों के मध्य प्रदेश की सीमा पर सक्रिय होने की पुष्टि जीपीएस मैपिंग से हुई है।

नगर पंचायतों अग्निशमन गेल एनटीपीसी के पास लगभग 10 से अधिक बड़े गाड़ी युक्त स्प्रेयर हैं साथ ही साथ जनपद में 30 से अधिक पानी के टैंकर हैं जिनका उपयोग दवाई के छिड़काव में किया जाएगा। कृषि विभाग ने 100 लीटर दवा का स्टाक किया है जिसका आवश्यकता पड़ने पर उपयोग किया जा सकेगा।

टिड्डी दल ने उत्तर प्रदेश में भी दस्तक दे दी है। बुंदेलखंड के कुछ जिलों में टिड्डी दल की आमद के साथ ही राज्य के अन्य जिलों को अलर्ट कर दिया गया है।

कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने टिड्डी दल के प्रकोप की आशंका को देखते हुए उनके नियंत्रण के लिए जनपदीय अधिकारियों को लोकस्ट वार्निंग आर्गनाइजेशन की तकनीकी टीम व क्षेत्रीय निवासियों व कृषकों से निरन्तर समन्वय बनाये रखने के निर्देश दिये हैं।