hafiz saeed

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद को पाकिस्तान की आतंकवाद रोधी अदालत में आतंकी फंडिंग मामले में बयान दर्ज नहीं हो पाया। आतंकी हाफिज सईद के वकील ने अदालत में और समय देने की मांग की है।

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और आतंकी हाफिज सईद की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पाकिस्तान की एक कोर्ट ने मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा के मुखिया आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ टेरर फंडिंग के मामले में आरोप तय कर दिया।

पाकिस्तान के लाहौर में एक रैली के दौरान बम धमाका हुआ है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि, इस धमाके में तल्हा सईद बाल-बाल बच गया है। पाकिस्तान ने इस हमले के लिए भारत की खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) पर शक जताया है।

मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड और प्रतिबंधित जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद के खिलाफ लाहौर की आतंकवाद रोधी अदालत आतंकवाद के वित्त पोषण के आरोप तय नहीं कर सकी।

खूंखार आतंकी हाफिज सईद वैसे तो पाकिस्तान की जेल में बंद है, पर खौफ अभी भी लोगों में बना हुआ है। पाकिस्तान में हाफिज सईद ने अपना रौब दिखा कर कातिलों की सजा माफ करा दी।

पाकिस्तान सरकार के लिए हाफिज सईद को बचा पाना अब नामुमकिन होगा। अगर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान उसे बचाने की कोशिश करेंगे तो भी आगे उनके लिए ऐसा करना अब संभव नहीं होगा।

हाफिज ने अपने मामले को पंजाब की गुजरांवाला आतंकवाद रोधी अदालत से लाहौर ट्रांसफर करने के लिए लाहौर हाई कोर्ट में अपील की है।

आतंकी हाफिज सईद को यूनाइटेड नेशन ने हर महीने डेढ़ लाख रुपये देने का फैसला किया है। पाकिस्तान ने आंतकी हाफिज सईद के खर्चा-पानी के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का दरवाजा खटखटाया था। ये वही हाफिज सईद है जिसको मुंबई आतंकी में अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित किया गया था।

'UAPA' एक्ट के तहत मसूद अजहर, हाफिज सईद, दाऊद इब्राहिम और जकीउर रहमान लखवी को आतंकी घोषित किया गया। रोचक है कि भारत सरकार की ओर से राजपत्र जारी कर इसका एलान किया गया।

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद को पाकिस्तान की एक कोर्ट ने दोषी करार दिया है। हाफिज सईद से जुड़ा मामला अब लाहौर से पाकिस्तान के गुजरात में शिफ्ट कर दिया गया है। पाकिस्तानी मीडिया ने यह दावा किया है।