hands line

हस्तरेखा के अनुसार अगर हाथ के अंगूठे के नीचे जीवन रेखा होती है। इससे घिरा क्षेत्र शुक्र पर्वत होता है। हाथ में अगर इस स्थान से कोई रेखा निकलकर शनि पर्वत पर जा कर मिलती है तो ऐसे व्यक्ति का विवाह के बाद भाग्योदय होता है।

यदि पर्वत अधिक उभार वाला हो और रेखा कटी या टूटी हो तो व्यक्ति अभिमानी, स्वार्थी, क्रूर, कंजूस और अविवेकी होता है। यदि हथेली में सूर्य पर्वत शनि की ओर झुका हो तो व्यक्ति जज एवं सफल अधिवक्ता होता है

अंगूठे पर चक्र का निशान हो तो वह व्यक्ति बहुत भाग्यशाली कहलाता है। उसका कोई भी काम नहीं रुकता है। उसको सफलता बड़ी जल्दी मिलती है और अपने क्षेत्र का महारथी माना जाता है।अगर किसी की हथेली पर सूर्य रेखा निकलकर गुरु पर्वत की ओर जाती है

जयपुर: यदि दोनों हाथों में भाग्य रेखा मणिबंध से प्रारंभ होकर सीधी शनि पर्वत पर जाती हो तथा सूर्य पर्वत पूर्ण विकसित, लालिमा लिए हुए हो और उस पर सूर्य रेखा भी बिना कटी-फटी, पतली और स्पष्ट हो, साथ ही मस्तिष्क रेखा, हृदय रेखा तथा आयु रेखा स्पष्ट हो तो इसे गजलक्ष्मी योग कहा जाता …

जयपुर:व्यक्ति की हथेली पर तरह-तरह के निशान और आकृतियां पाई जाती हैं। इन्हीं निशानों में अगर त्रिभुज के आकार का कोई निशान बने वह व्यक्ति अपने जीवन में राजयोग का सुख प्राप्त करता है। हर व्‍यक्‍ति को जीवन में धन चाहिए। ज्‍योतिष में शुक्र और गुरू को धन का ग्रह माना गया है। शुक्र विलासिता …

जयपुर: किसी भी हथेली में हृदय रेखा वह रेखा है जो दिल से जुड़ी भावनाओं के विषय में बताती है। साथ ही किसी पुरुष के हाथ में हृदय रेखा संतान के जन्म का भी इशारा करती है। सामान्यत:किसी भी हथेली में हृदय रेखा तर्जनी उंगली या मध्यमा उंगली से शुरू होकर बुध पर्वत के नीचे …

जयपुर: जीवन है तो उसमें उतार चढ़ाव लगा रहता है। कभी हार तो कभी जीत। ये सब हमारे कर्म के अनुसार होता है। और कुछ भाग्य में बनी रेखाओं के कारण होता है। आप देखते होंगे कि किसी की असमय मृत्यु हो जाती है तो किसी के पति-पत्नी के बीच नहीं बनता हैं। जानते हैं …