health minister

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह जनपद के भ्रमण के दौरान जिला अस्पताल सहित रेलवे अस्पताल, पैरामेडिकल तथा महारानी लक्ष्मी बाई मेडिकल कॉलेज का भ्रमण किया।

उत्तर प्रदेश शासन के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने स्वास्थ्य केंद्र मोंठ का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान हड़कंप मच गया। स्वास्थ्य केंद्र में सभी डॉक्टर एवं कर्मचारी अपने अपनेविभाग में ड्यूटी करते दिखाई दिए।

कोरोना वायरस संकट के बीच  तेलंगाना के हेल्थ मिनिस्टर एटाला राजेंद्र ने केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। हेल्थ मिनिस्टर राजेंद्र ने कहा कि केंद्र से एक हजार वेंटिलेटर मांगे गए थे लेकिन सिर्फ 50 वेंटिलेटर दिया गया। 

दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की तादात लगातार बढ़ती ही जा रही है। ऐसे में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की तबीयत फिर से खराब हो गई है।

 कोरोना के बढ़ते संक्रमण से देश के ऊपर खतरा बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु ने एक बार फिर कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्स की खुलेआम धज्जियां उड़ाई हैं।

दुनियाभर में कोरोना वायरस की वजह तबाही मची हुई है। ऐसे में दक्षिण अमेरिका के चिली में स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना वायरस महामारी के कहर के चलते इस्तीफा दे दिया है।

बीते रविवार को देश में कोरोना वायरस के लगभग पांच हजार नए मामले सामने आए। लेकिन केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने आज कहा कि पिछले तीन दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले  में कमी आई है। ये मामेले दोगुने होने का समय 13.6 दिन हो गया, जबकि पिछले 14 दिन में यह दर 11.5 दिन थी।

भारत सरकार ने पूरी तरह से लॉकडाउन किया है। इसके बावजूद देश में लगातार बढ़ती कोरोना वायरस के केस की संख्या चिंता बढ़ा रही है। इस बीच आज एक बार फिर स्वास्थ्य के मुद्दे पर ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक होगी। इस बैठक की अगुवाई केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन करेंगे।

 देश में कोरोनावायरस का संकट चरम पर है।यहां के 718 जिले हैं केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि 718 जिलों में से 400 जिले कोरोना मुक्त हैं जहां अभी तक कोरोना पहुंचा नहीं है। सरकार 400 जिलों को कोरोना से दूर रखने की दिशा में प्रयास कर रही है स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कोरोना वायरस संकट

कोरोना वायरस की वजह से लगभग पूरी दुनिया में लॉकडाउन लागू है। वहीं अलग-अलग देशों में इसका पालन नहीं करने वालों के लिए सजा का प्रावधान भी किया गया है...