health news

हर व्यक्ति अपने आप को स्वस्थ रखना चाहता है। डाक्टर से लेकर बैद्य, बड़े और बुढ़ो से सुना होगा कि अपने को स्वस्थ रखने के लिए भोजन अल्प मात्रा में करना चाहिए, साथ ही भोजन में हरे पत्तेदार सब्जियों का प्रयोग करना चाहिए जानता है

अलग अलग बीमारियों और परेशानियों के लिए अलग तरीके के डाइट चार्ट तो आप सब ने देखे होंगे। कई लोग तो इन्हें फॉलो भी करते होंगे। मगर बहुत कम लोग ये जानते है कि आपके ब्लड ग्रुप और आपके डाइट का बहुत बड़ा कनेक्शन है। इसीलिए ज़रूरी है की आप खाना अपने ब्लड ग्रुप के हिसाब से ही खाये। अब आप सोच रहे होंगे कि

दैनिक जीवन में खानपान, ब्रेकफास्ट न करने की आदत, पौष्टिक तत्वों की कमी और कुछ गलत आदतों के कारण लोगो में खासकर पुरुषों में शारीरिक कमजोरी होने लगती है। इस शारीरिक कमजोरी दूर करने के लिए लोग पहले अश्वगंधा का सेवन करते हैं। लेकिन इसके अलावा भी एक जड़ी- बूटी है,

शरीर का स्टैमिना 18 साल से लेकर 30 साल की उम्र तक सबसे ज्यादा होता है और बढ़ती उम्र के साथ शरीर का स्टैमिना कम होने लगता है। शरीर के स्टैमिना को बरकरार और फुर्तीला रखने के लिए हमें संतुलित खानपान की आवश्यकता होती है। यदि समय रहते इस पर ध्यान नहीं दिया जाता है तो हम कमजोरी के शिकार हो जाते हैं।

आजकल की ज़िन्दगी काफी थकावट भरी हो गयी है| हर आदमीं अपने काम में व्यस्त है लेकिन अधिकतर पुरुष शरीर में कमजोरी की समस्या से परेशान रहते हैं। इसकी मुख्य वजह आजकल का गलत खानपान है। आजकल के खानपान से शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं।

जनपद मुख्यालय स्थित जिला महिला चिकित्सालय में आज प्रातः गर्भवती रूवी को चिकित्सालय में डिलीवरी के लिए लाने पर ग्राम ककरावली थाना पिलुआ निवासी 26 वर्षीय रूवी को डिलीवरी कराने के स्थान पर स्टाफ नर्स ने अभद्रता करते हुए डिलीवरी रूम से धक्के मार कर बाहर निकाल दिया जिससे गर्भवती महिला ने बाहर खुले पुत्र को जन्म दिया और बच्चे का सिर जमीन में लगजाने से बच्चे की मौत हो गई। जिससे चिकित्सालय में हड़कंप मच गया।

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले की स्वास्थ सेवा सरकारी एम्बूलेंस से अब ठेले पर पहुंच गयी है। दरअसल सरकार स्वास्थ सेवाओ को चुस्त दुरुस्त बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। गरीबो को मुफ्त में स्वास्थ सेवाओ को मुहैय्या कराने के लिए साथ उनको अस्पताल पहूँचाने के लिए एम्बूलेन्स सेवाओ को शुरु किया।

विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही एईएस (चमकी बुखार) से प्रदेश में 28 जून तक 154 बच्चों की मौत को लेकर विपक्षी दलों ने कार्यस्थगन प्रस्ताव पेश किया।

अमेरिका, यूरोप और हांगकांग में धीमी या तेज हृदयगति का एहसास कर रहे यूजर्स का इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम (ईसीजी) उनकी कलाई से कुछ ही क्षणों में उनकी हृदयगति की लय को समझने और फिजीशियन को महत्वपूर्ण जानकारी देने में मदद कर रहा है। एप्पल वाच का यह स्वास्थ्य फीचर फिलहाल भारत में उपलब्ध नहीं है।

अदरक सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाता बल्कि ये सेहत के लिए भी बहुत ही फायदेमंद होता है। सिरदर्द हो, पेट या गले का दर्द, ये हर तरह के दर्द और तकलीफ में आराम पहुंचाने के साथ ही उसे दूर करने में भी सहायक होता है।