healthy food

अगर आपके बच्चे की भी हाईट नहीं बढ़ रही, जिसके चलते उसे दूसरे बच्चों के सामने शर्मिंदा होना पड़ता है। तो आपको अपने बच्चों के खान पान में बदलाव करने की ज़रूरत हैं।

हलवे में दूध डालकर इसे कैल्शियम और प्रोटीन से युक्त किया जाता है। काजू और किशमिश हलवे में प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट को जोड़ते हैं। हलवे में शुद्ध घी शरीर को सर्दियों में होने वाले दर्द को कम करने के लिए जरूरी गुड फैट देता है।

कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया परेशान है, लेकिन इसमें एक अच्छी बात ये है कि लोग अपनी हेल्थ और लाइफस्टाइल को लेकर पहले से ज्यादा सजग हो गए हैं। कोरोना वायरस महामारी ने हमें इस बात का अहसास कराया कि हेल्दी फूड हमारे लिए कितना जरूरी है।

सर्दियों के मौसम में सबसे ज्यादा लोग मूली के पराठे खाना पसंद करते हैं। लेकिन आपको बता दें, कि जितनी ज्यादा ख़ुशी आपको मूली खाने के बाद मिलती है, उससे ज्यादा आपके पेट के आंतों में रहनेवाले गुड बैक्टीरिया को मिलती है।

 स्वस्थ भोजन के लिए मछली जैसे कि सामन, मैकेरल, या सार्डिन पुरुषों के लिए अच्छी मानी जाती है। फैटी फिश हमारे शारीरिक सेहत को पूर्ण पोषण देने का काम करती है।

स्वस्थ भोजन खाने से ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित किया जा सकता है, विशेषकर डायबिटीज वाले लोगों । मधुमेह एक ऐसी बीमारी है जो तब विकसित होती है जब रक्त शर्करा या ग्लूकोज का स्तर मानव शरीर में सामान्य से अधिक होता है।

मोबाइल फोन पर उपलब्ध इंटरनेट में भले ही तमाम खामियां हो लेकिन यह सुलभ इंटरनेट अब लोगों के खानपान की आदतों में भी सुधार कर रहा है।

आज-कल हर जगह प्रदूषण फैला हुआ है। देश की राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण की वजह से गंभीर परेशानी की स्थिति पैदा हो चुकी है।

अगर आप अपनी हेल्थ को लेकर तो सतर्क हैं और अपने खाने-पीने पर देते हैं ध्यान तो आप रहें बहुत सी बीमारियों से दूर। बहुत से ऐसे लोग होते हैं जिन्हें ज्यादा तला-भुना पसंद नहीं होता है।

थेरप्यूटिक फूड पर काम कर रही ब्लू प्लैनेट सोसाइटी की कंपनी रायन थेरप्यूटिक फूड (आरटीएफ) आने वाले समय में देशभर में अपनी सेवाएं देने की तैयारी में है। इस कंपनी ने प्रयोग के तौर पर 25 बीमार लोगों को थेरप्यूटिक फूड दिया जिसमें से 15-16 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए। जिन लोगों ने आधा अधूरा फूड लिया, उन्हें भी बहुत हद तक लाभ हुआ।