helps

ज्यादातर बच्चे गरीबी के चलते पढ़ नहीं पाते। पैसों की तंगी के चलते कुछ बच्चे बचपन में ही अपनी पढ़ाई छोड़ देते है। लेकिन सूरत में दर्जनों अप्रशिक्षित छात्रों को शहर के प्रमुख रवि छावछरिया द्वारा एक पहल की गई है जिसमें जो चार्टर्ड एकाउंटेंट बनना चाहता है उसके सपने को पूरा करने का अवसर मिलेगा।

म्यांमार में जारी हिंसा के कारण पड़ोसी देश बांग्लादेश पलायन करने वाले रोहिंग्या मुसलमानों को अमेरिका मानवीय सहायता के तौर पर 3.2 करोड़ डॉलर की राशि देगा।

जयपुर: अक्सर खाने  के बाद लोग सौंफ का सेवन करते हैं। इससे पाचन शक्ति मजबूत होती है। मुंह की दुर्गंध कम होने के साथ सांस और ह्दय संबंधी बीमारी से भी छुटकारा मिलता है। आयुर्वेद के अनुसार सौंफ बहुत गुणकारी होता है। इसलिए खाने के बाद हर हाल में सौंफ लेना चाहिए। यह शरीर में वजन को …

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से पाकिस्तान के एक शख्स ने सोशल मीडिया पर अपने नवजात बच्चे की बिगड़ती हालात का हवाला देकर मदद की गुहार लगाई थी।