hightech

देश की राजधानी दिल्ली में इस बार का विधानसभा चुनाव कई मायनों में हाईटेक होगा। दिल्ली के 70 विधानसभा क्षेत्रों में से 11 में बने मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कितनी भीड़ है और कितने लोगों ने मतदान किया है इसका पूरा ब्यौरा वोटर्स घर बैठे ही पता कर सकते हैं।

बस में एक पैनिक बटन भी दिया गया है। चालक के बटन दबाते ही पांच सेकंड में लाइव एचडी रिकॉर्डिंग पुलिस कंट्रोल रूम पहुंच जाएगी। इस रिकॉर्डिंग को जूम इन और जूम आउट कर आसानी से देखा जा सकेगा। हर सीट के नीचे एक स्टॉप बटन है। स्टॉप आने पर मुसाफिरों को कंडक्टर या चालक के पास नहीं जाना पड़ेगा।

प्रधानमंत्री का मंच जिसे तैयार करने के लिए पीके दत्ता के नेतृत्व में ढाई सौ करीगरों का दल कानपुर आया है। उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री की परिवर्तन रैलियों के मंच पीके दत्ता ने ही तैयार किए हैं। दत्ता ने बताया कि प्रधानमंत्री का मंच तय मानकों के अनुरूप तैयार किया जाता है।

लखनऊ: हाईटेक होते दौर में यूपी के सरकारी विभागों का चोला भी बदल रहा है। इसलिए सूबे की परिवार नियोजन सेवाएं भी तकनीक के साथ चलेंगी। विभाग की जानकारियां पंचायत के नुमाइंदों को भी एसएमएस और वाट्सएप से दी जाएंगी। वेबसाइट लांच -विभाग ने सिफ्सा की नई वेबसाइट लांच की है। -फैमिली प्लानिंग की रिपोर्टिंग …