himachal pradesh

मनाली के बौद्ध मठ बहुत लोकप्रिय हैं। कुल्लू घाटी के सर्वाधिक बौद्ध शरणार्थी यहां बसे हुए हैं। यहां का गोधन थेकचोकलिंग मठ काफी प्रसिद्ध है। साल 1969 में इस मठ को तिब्बती शरणार्थियों ने बनवाया था।

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में ट्रक पलटने से 21 तीर्थयात्री बुरी तरह से जख्मी हो गए। बताया जा रहा है कि पंजाब से एक ट्रक में लगभग 40 यात्री नैना देवी मंदिर में पूजा करने आए थे।

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के कुम्हारहट्टी-नाहन मार्ग पर एक बहुमंजिला इमारत गिर गई है। बिल्डिंग के नीचे सेना के करीब 35 जवान मौजूद थे, जिनमें से 10 को बचा लिया गया है।

हिमाचल प्रदेश में एक बड़ा हादसा हो गया है। प्रदेश के कुल्लू में एक बस खाई में गिर गई है। इस हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 30 लोगों के घायल होने की खबर है। ये घटना कुल्लू के बंजार में हुई है।

लोकसभा चुनाव में हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस के अब तक के सबसे खराब प्रदर्शन के बाद पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू के बीच मतभेद पैदा हो गए हैं।

प्रदेश की चार लोकसभा सीटों पर कुल 45 उम्मीदवार मैदान में थे। इनमें से 37 प्रत्याशी अपनी 25,000 रुपये की जमानत राशि बचाने के लिए अनिवार्य 16.67 प्रतिशत वोट भी नहीं जुटा सके।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस की पिछली सरकारों पर रक्षा सौदों को ऑटोमेटेड टेलर मशीनों (एटीएम) की तरह इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में सोमवार को एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने दावा किया कि यदि पिछली यूपीए सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्वकाल के दौरान की वृद्धि दर बनाए रखी होती तो आज यह कहीं ज्यादा होती।

 हिमाचल प्रदेश में बेहतर रोजगार के अवसर (63.60%), कृषि (47.02%) और बेहतर अस्पतालों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए पानी की उपलब्धता (41.10%) शीर्ष तीन मतदाता प्राथमिकताओं में शामिल है।

शिमला मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि भूकंप के झटके सुबह चार बजकर 32 मिनट पर महसूस किए गए। भूकंप का केंद्र मंडी के पूर्वोत्तर में 10 किलोमीटर की गहराई में था।

हादसा डलहौजी के पंचपुला के पास हुआ है। हादसे का शिकार हुई बस पठानकोट से डलहौजी की तरफ जा रही थी। तभी ड्राइवर का बस से नियंत्रण हट गया और बस खाई में जा गिरी। बताया जा रहा है कि अंधेरा होने की वजह से घायलों को निकालने में प्रशासन को दिक्कतें आ रही है।