hindu

राम जन्मभूमि विवाद पर मामले में हिंदू पक्ष और मुस्लिम पक्ष ने सुप्रीम कोर्ट में मोल्डिंग ऑफ रिलीफ पर अपना जवाब दाखिल कर दिया है। हिंदू पक्ष ने कहा है कि अयोध्या में विवादित जमीन पर राम मंदिर का निर्माण हो।

सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर विवाद पर बुधवार को सुनवाई खत्म हो गई है। पहले हिंदू और फिर मुस्लिम पक्ष ने देश की सबसे बड़ी अदालत में अपनी-अपनी आखिरी दलीलें रखीं। आखिर में मुस्लिम पक्ष ने दलीलें रखीं। इसके बाद चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संवैधानिक बेंच ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर विवाद पर आज यानी बुधवार को सुनवाई पूरी हो सकती है। देश की सर्वोच्च अदालत में हिंदू और मुस्लिम पक्ष अपनी-अपनी आखिरी दलील रखेंगे। अगर आज सुनवाई पूरी हो जाती है, तो यह सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय की गई समयसीमा से एक दिन पहले पूरी होगी।

सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर विवाद पर आज यानी बुधवार को सुनवाई पूरी हो सकती है। देश की सर्वोच्च अदालत में हिंदू और मुस्लिम पक्ष अपनी-अपनी आखिरी दलील रखेंगे। अगर आज सुनवाई पूरी हो जाती है, तो यह सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय की गई समयसीमा से एक दिन पहले पूरी होगी।

बहुजन समाज पार्टी(बीएसपी) की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बड़ा ऐलान किया है। बीएसपी प्रमुख ने कहा कि वह अपना धर्म बदलकर बौद्ध धर्म को अपनाएंगी। मायावती ने यह बड़ी घोषणा महाराष्ट्र के नागपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए की।

सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर विवाद को लेकर सुनवाई हो रही है। सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों के लिए 17 अक्टूबर तक बहस पूरी करने की समयसीमा तय कर दी है। इसके तहत सोमवार को मुस्लिम पक्ष को अपनी दलीलें खत्म करनी हैं, लेकिन उसके वकील राजीव धवन ने कोर्ट से डेढ़ घंटे का का वक्त मांगा है।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह अपने बयान के कारण फिर से विवादों में आ गए हैं। उन्होंने दुराचार के मामलों में भगवा धारियों के लिप्त होने पर सवाल उठाया, तो हिंदू समाज ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के घोटकी जिले में हिंदू दंगों और हमलों की डर की वजह से घर में ही रहने को मजबूर हैं। इस जिले में रहने वाले हिंदुओं को दंगों और हमलों का डर सता रहा है। घोटकी, आदिलपुर, मीरपुर माथेलो जैसे शहरों में स्थिति तनावपूर्ण होने की वजह से हिंदूओं को घरों में रहने के लिए कहा गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि देश में समान नागरिक आचार संहिता (यूनिफॉर्म सिविल कोड) लागू करने के लिए अभी तक कारगर प्रयास नहीं किए गए। देश की सर्वोच्च अदालत ने गोवा के एक संपत्ति विवाद मामले की सुनवाई के दौरान ये बात कहीं।

ड़िता ने थाने में मीडिया को आपबीती बताई है। पीड़ित युवती ने बताया कि उसे मोहम्मद अजहर ने हिन्दू बन अपने प्रेम जाल में फंसाया और फिर उसका एमएमएस बनाकर उससे जबरन इस्लाम कबूल करवाकर उससे निकाह कर लिया।