history

चीन कम्युनिस्ट शासन की 70वीं वर्षगांठ मना रहा है। पूरी दुनिया में चीन का असाधारण विकास अपने आप में एक कहानी कह रही है। 1 अक्तूबर 1949 के दिन माओत्से तुंग ने चीन के गणराज्य बनने की घोषणा की थी। चीन में माओत्से तुंग के बाद आर्थिक क्रांति लाने का श्रेय डांग श्याओपिंग को दिया जाता है।

मुस्लिम धर्म में बहुत से ऐसे नियम हैं जिनके पीछे के रहस्य के बारे में आप वाकिफ नहीं होंगे। तो चलिए आज हम आपको एक ऐसे नियम के बारे में बताते हैं जो मुस्लिम महिलाओं के लिए बनाया गया है।

श्रीधर अग्निहोत्री लखनऊ: उत्तर प्रदेश की विधानसभा अपने अतीत की सुनहरी यादों को लेकर एक बार फिर इतराने को तैयार है। उत्तरप्रदेश के इतिहास में पहली बार गांधी जयंती के मौके पर 48 घंटे का सत्र बुलाया जाएगा। मजे की बात यह है कि यह सत्र लगातार 48 घंटे चलेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सुझाव …

भारत का इतिहास बहुत पुराना व गौरान्वित करने वाला है।  चाहे यहां के धर्म संस्कृति  हो या रहन सहन वो हमें दूसरों से अलग और दूसरों के लिए प्रेरणादायक बनाती है। ऐसे ही हमारा देश विश्व का गुरू नहीं कहलाया था।  यहां की गुरुकुल परंपरा सदियों से है जो विश्व को आकर्षित करती है।

आपने इतिहास में कई योद्धाओं के बारे में सुना होगा। मध्यकालीन युग में योद्धा की उपाधि मिलना बहुत सम्मान की बात होती थी। इस उपाधि को प्राप्त करना आसान नहीं होता था, इसके लिए कई दर्दनाक यातनाओं को को झेलना पड़ता था।

रक्षा बंधन की परंपरा की शुरुआत बहनों ने शुरू नहीं की थी। रक्षा बंधन सावन पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस महीने रक्षा बंधन 26 अगस्त 2018 को है।  राखी की परम्परा सगी बहनों ने शुरू नहीं की थी। तब किसने शुरू किया राखी का चलन? जानते हैं राखी का इतिहास

हम अक्सर बोलचाल या कहावतों में सुनते और कहते रहते है कि फूटी कौड़ी भी नहीं दूंगा, धेले का काम भी नहीं हुआ या चमड़ी जाये पर दमड़ी न जाये या फिर पाई-पाई का हिसाब लेना आदि। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि आखिर यह कोड़ी, धेला, दमड़ी और पाई है क्या।

कहा तो यह भी जाता है कि यहां से इसी तरह की एक और विष्‍णु की मूर्ति मिली जिसे भारतीय पुरातत्‍व विभाग ने लखनऊ संग्रहालय में सुरक्षित रखा है। इतिहासकारों के मुताबिक सबसे पहले इस पुरास्‍थल का उल्‍लेख ए फ्यूहरर ने अपनी पुस्‍तक  द मान्‍यूमेंटल एंडिक्विटीज एंड इंस्क्रिप्‍संस इन द नार्थ वेस्‍टर्न प्राविंसेज एंड अवध में किया।

इतिहास का 2 जून वह दिन है, जब रानी एलिजाबेथ द्वितीय का राजतिलक किया गया और वह ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड सहित कॉमनवेल्थ देशों की रानी बनीं। छह फरवरी 1952 को उनके पिता जॉर्ज षष्ठम की मृत्यु के बाद एलिजाबेथ के रानी बनने की घोषणा की गई।

जयपुर: भारत में खाने के बाद मीठा खाने का रिवाज है। और मीठे में सबसे ज्यादा खीर पसंद की जाती है. यही वजह है कि उत्तर की खीर दक्षिण जाते-जाते पायसम हो जाती है। लेकिन बनाने की विधि में कोई अंतर नहीं है. हां इतना जरूर है कि इसमें अलग-अलग चीजें डाली जाती हैं. भारत …