hospital

स्वर कोकिला लता मंगेशकर के अभी भी अस्पताल में भर्ती है, बताया जा रहा है कि उनकी हालत स्थिर बनी हुई है। देश-विदेश में उनके तमाम प्रशंसकों के साथ बॉलीवुड सितारों ने उनके जल्दी ठीक होने के लिए दुआयें मांग रहे हैं।

लता मंगेशकर की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है। उन्हें ICU में वेंटिलेटर पर रखा गया है। सोमवार को उनकी तबियत खराब होने के बाद मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। 90 साल की लताजी की हालत अब भी नाजुक है। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी।

स्वर कोकिला लता मंगेशकर को तबियत खराब होने के बाद सोमवार को मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। 90 साल की लता की हालत अब भी नाजुक है और उन्‍हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी जिसके बाद नजदीकी हॉस्पिटल ब्रीच कैंडी में भर्ती कराया गया।

आपको जानकर हैरानी होगी कि अब अमिताभ बच्चन सिर्फ 25 प्रतिशत लिवर के सहारे जिंदा हैं। उनका लिवर 75 प्रतिशत तक खराब हो चुका है क्योंकि उनको हेपेटाइटिस इंफेक्शन है। वैसे अपनी बीमारी को कभी भी बिग बी अपने काम पर हावी नहीं होने देते हैं।

बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री कार्यालय के ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर पहले योगी और नीरा राडिया की तस्वीर जारी की गई थी। इसके बाद में सोशल मीडिया पर लोगों के सवाल उठने लगे, जिस कारण पुराने ट्वीट को डिलीट कर दिया गया। नए ट्वीट में नीरा राडिया की तस्वीर हटाकर सिर्फ अस्पताल की नई तस्वीरें जारी की गईं।

यूपी बिहार समेत पूर्वी भारत में भारी बारिश हो रही है जिसने ताबही मचाकर रख दी है। देश के कई हिस्सों में बारिश आम लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। मौसम विभाग ने बिहार के तमाम जिलों में भारी बारिश की संभावना जाहिर की है। प्रशासन को पूरी तरह से अलर्ट रहने के लिए कहा गया है।

42 ट्रॉमा सेंटर बिना फार्मासिस्ट के ही संचालित किए जा रहे हैं। यही नहीं 200 से लेकर 500 बेड तक के अस्पतालों में फार्मासिस्ट की तैनाती का मानक ही तय नहीं किया गया है। राजभवन की 24 घंटे की डिस्पेंसरी में भी तीन की जगह सिर्फ एक फार्मासिस्ट की तैनाती की गई है।

उत्तर प्रदेश के नवनियुक्त बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ बड़ा हादसा हो गया है। गाड़ी से उतरते वक्त वह चोटिल हो गए। दरअसल वे मुजफ्फरनगर पहुंचे थे, जहां भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के कार्यकर्ता उनका स्वागत कर रहे थे।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 10 दिन पहले घायल एक व्यक्ति का अस्पताल में इलाज चल रहा था। सोमवार को डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घर पर जनाजे की तैयारियां होने लगीं, लेकिन दफनाए जाने से ठीक पहले वह जिंदा हो उठा।

सूबे के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह इन दिनों पूर्वांचल के दौरे पर हैं। सिद्धार्थनाथ सिंह शनिवार को वाराणसी पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मंडलीय चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया।