hydroxy chloroquine

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के फेमस सर गंगाराम हॉस्पिटल के नाम से एक फर्जी पर्चा सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसमें कोरोना वायरस को लेकर कई दावे किए गए हैं।

अमेरिका से एक नई स्टडी में सामने आई है, जिसमें कहा गया है कि हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन (Hydroxy chloroquine) दवा के उपयोग से मरीजों की मौत ज्यादा हो रही है।

डोनाल्‍ड ट्रंप की इस 'गेमचेंजर' मलेरिया की दवा से ब्राजील को मायूसी हाथ लगी है। जिसके बाद ब्राजील के साइंटिस्ट्स ने इस दवा के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है।

सूत्र के मुताबिक, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह एक महत्वपूर्ण समय है, जब भारत लोगों की जिंदगियां बचा सकता है, हम इसे हाथ से जाने नहीं देंगे।

भारत ने अमेरिका की मांग को पूरा कर दिया है। इस बीच कांग्रेस नेता शशि थरूर ने डोनाल्ड ट्रंप से सवाल किया है कि क्या भारत को कोरोना की वैक्सीन देगा अमेरिका?

अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा भारत से हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन दवा की मांग किए जाने के बाद दुनियाभर में इसे लेकर चर्चा तेज हो गई है कि आखिर यह कौन सी दवा है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने PM मोदी से बातचीत कर कोरोना से लड़ने में मदद करने के लिए कहा है। डोनाल्ड ट्रंप ने भारत से हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन टेबलेट्स मुहैया कराने का अनुरोध किया है।