icj

वरिष्ठ वकील और अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में भारत के पैरवीकार हरीश साल्वे ने कुलभूषण जाधव मामले में कोर्ट जाने की बात कही है। उनका आरोप है कि पाकिस्तान भारत को जाधव से मिलने नहीं दे रहा है, जो कोर्ट के निर्देशों का उल्लंघन है।

निर्भया गैंगरेप के दोषी फांसी से बचने के लिए हमेशा कोई न कोई पैंतरा आजमाते रहते हैं, लेकिन इस बार अपने सारे पैंतरे फेल होते देख दोषी अंतरराष्ट्रीय अदालत की शरण में पहुंच गए हैं। दोषियों के वकील एपी सिंह ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय अदालत को पत्र लिखा है।

कोर्ट ने कहा कि म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ किए गए नरसंहार के आरोपों पर फैसला देने के लिए वह प्रथम दृष्टया अधिकार क्षेत्र है और उसका आदेश बाध्यकारी है।

भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान को बड़ी हार का सामना करना पड़ा। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) के प्रेसि़डेंट जज अब्दुलाकावी यूसुफ ने कहा कि, पाकिस्तान ने वियना संधि का उल्लंघन किया है।

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के हटने के बाद से पाकिस्तान की बौखलाहट इस तरह बढ़ गई है कि भारत का आंतरिक मामला होने के बावजूद पाकिस्तान इस मसले को दुनिया के कई मंचों पर उछालने की कोशिश कर रहा है।

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को गिरफ्तारी के तीन साल बाद आखिरकार सोमवार को कॉन्सुलर एक्सेस मिल ही गया। पाकिस्तान में भारतीय डिप्टी हाई कमिश्नर गौरव अहलूवालिया ने इस्लामाबाद में कुलभूषण जाधव से पहली बार मुलाकात की।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद बौखलाए पाकिस्तान को पूरी दुनिया में मुंह की खानी पड़ी है। भारत के आंतरिक मामले में दखल देने की हरकत पर सुरक्षा परिषद में हार के बाद भी तिलमिलाया पाकिस्तान अभी भी बाज नहीं आ रहा है।

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) के फैसले के बाद पाकिस्तान ने गुरुवार को कहा कि वह भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को राजनयिक संपर्क मुहैया कराने की तैयारी कर रहा है।

इस्लामाबाद: प्रधानमंत्री इमरान खान ने बृहस्पतिवार को कहा कि आईसीजे के आदेश के बाद कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान ‘कानून के अनुसार’ आगे बढ़ेगा। गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय अदालत (आईसीजे) ने बुधवार को पाकिस्तान को भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को सुनाई गयी फांसी की सजा पर प्रभावी तरीके से फिर से विचार करने और राजनयिक …

नई दिल्ली: विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मामले में अंतरराष्ट्रीय अदालत के फैसले का स्वागत करते हुए गुरुवार को कहा कि सरकार जाधव की सुरक्षा और देखरेख सुनिश्चित करने के साथ ही उन्हें यथाशीघ्र भारत वापस लाने के लिए कोशिश जारी रखेगी। यह भी पढ़ें: ISRO ने …