idea

देश में म्यूचुअल फंड निवेश का सबसे बड़ा जरिया बन गए हैं। कुछ म्यूचुअल फंड कंपनियों ने वोडाफोन-आइडिया में करीब 3376 करोड़ रुपये का निवेश कर रखा है। ये घाटे से बेहाल हुई सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी है। ऐसे में अगर टेलीकॉम कंपनी दिवालिया होगी तो इन म्यूचुअल फंड कंपनियों  पर भी असर दिखेगा। 

भारत में ऐसा पहली बार हुआ है जब मोबाइल फोन वोडाफोन आइडिया के चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही यानी जुलाई-सितंबर में 50,921 करोड़ रुपए का रिकॉर्ड घाटा हुआ है।

ब्रिटेन की टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन ने बताया कि वह भारतीय बाजार में निवेश बनाये रखेगी और मौजूदा चुनौती से निकलने के लिए सरकार से मदद मांग रही है।

रिलायंस जियो कॉलिंग के लिए पैसे लेने की घोषणा की है। अब जियो से अब दूसरे नेटवर्क पर कॉल करने के पैसे लगेंगे। अब जियो ग्राहकों को दूसरी टेलीकाॅम कंपनी पर कॉलिंग के लिए एक नया टॉप-अप रिचार्ज कराना होगा।

टेलीकॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने अपने नेटवर्क से बाहर जाने वाली आउटगोइंग कॉल्स पर रिंग टाइम को घटाकर 25 सेकेंड कर दिया है। रिंग टाइम का आशय कॉल आने के समय फोन पर बजने वाली घंटी से है।

4जी नेटवर्क बढ़ाने के बड़े बड़े वायदे करने वाले वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल, ट्राई के हालिया रिलिज किए गए आंकड़ों में फिस्ड्डी साबित हुए। वोडा-आइडिया का हाल सबसे बुरा है। वोडा-आइडिया 4जी नेटवर्क को बढ़ाने के मामले में अपने प्रतिद्वंदी एयरटेल और जियो से काफी पीछे छूट गई है।

आप में से अधिकतर लोगों के पास स्मार्टफोन होगा। ऐसे में जाहिर-सी बात है कि आप अपने स्मार्टफोन में इंटरनेट का इस्तेमाल भी करते होंगे और इसके लिए आप 28 दिन वाला या फिर 84 दिन वाला रिचार्ज भी करवाते होंगे।

ट्राई की नयी रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश पूर्वी क्षेत्र में जियो ने अप्रैल माह (2019) में मार्च की तुलना में सबसे ज्यादा उपभोक्ता जोड़े हैं। वोडा-आइडिया को छोड़ बाकी सब टेलीकॉम कंपनियों ने जैसे एयरटेल और बीएसएनएल ने उपभोक्ता खोये हैं।

जयपुर:कई लोगों को ट्रैवलिंग करते समय उल्टियां आती हैं। ऐसे में ये लोग अपने दोस्तों के साथ घूमना फिरना भी इग्नोर करने लगते हैं। सफर में उल्टियां या सिरदर्द होने पर सफर का सारा आनंद खो जाता है। ऐसे में यदि  घरेलू नुस्खे अपनाते हैं तो आसानी से इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। जानते हैं …

लखनऊ : किसी भी इंसान के लिए जीवन में महत्वाकांक्षा एक अनिवार्य तत्व है। महत्वाकांक्षा के बिना जीवन की कल्पना किसी सूखे पत्ते की तरह है, जिसे डाली पर रहने या जमीन पर गिरे रहने में कोई फर्क ही नजर नहीं आता है। इसलिए हर व्यक्ति को महत्वाकांक्षा होना चाहिए, लेकिन इसके साथ कुछ बातों …