imran khan

आतंकवाद को बढ़ावा देने में पाकिस्तान को हमेशा कठघरे में खड़ा किया जाता है। आतंक के लिए पाकिस्तान की हमेशा निंदा होती है। करतारपुर कॉरिडोर को लेकर इमरान खान और सेना प्रमुख जनरल कमर बाजवा के छिपे एजेंडे की पोल पाकिस्तानियों ने खुद खोल दी है।

पाकिस्तान में सरकार कभी भी गिर सकती है। जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने एक बार फिर इमरान खान के खिलाफ बिगुल फूंका है। खबर है कि इस बार वे इमरान के खिलाफ अपना बी-प्लान लेकर उतर रहे हैं।

इस दौरान उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी पाकिस्तान पहुंचे। जहां पर उन्होंने पाकिस्तानी पीएम इमरान खान को सिंकदर बताया।

पाक पीएम इमरान खान और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने शनिवार को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन पर कश्मीर को फिर उठाया। उन्होंने भारत से अपील की कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के बाद अब कश्मीर घाटी से पाबंदी हटाई जाए।

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत-पाकिस्तान में खींचतान का दौर जारी है। ऐसे में आज शनिवार 9, नवंबर भारतीय सिख तीर्थयात्रियों के लिए, करतारपुर साहिब कॉरिडोर शुरू हो गया है।

पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ इलाज के लिए विदेश जाएंगे। डॉक्‍टरों ने उनको इलाज के लिए विदेश जाने की सलाह दी है। माना जा सकता है कि डॉक्‍टरों ने पाकिस्तान के पूर्व पीएम को विदेश जाने की सलाह देकर जीवनदान देने का काम किया है।

इमरान खान ने ट्वीट कर कहा कि करतारपुर साहिब दर्शन के लिए आने वाले भारतीय श्रद्धालुओं को पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी, लेकिन पाकिस्तानी सेना की तरफ से अपने ही पीएम की बात को खारिज कर दिया गया।

जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरु नानकजी के इस पवित्र स्थान को भारतीयों के लिए खोलने में उत्साह दिखाया तो कुछ भारतीय नेताओं ने कहा था कि यह पाकिस्तानी फौज के इशारे पर किया गया काम है।

नई दिल्ली: सिख धर्म के संस्थापक बाबा गुरु नानक देव की 550वीं जयंती से पहले शनिवार को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया जाएगा। इसी बीच बड़ी खबर आ रही है कि करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन से ठीक पहले पाकिस्तान आर्मी की तरफ से बड़ा बयान आया है। इस बयान से साफ हो रहा है कि …

पाकिस्तान में आजादी मार्च को लेकर इमरान सरकार और उलमा-ए-इस्लाम प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान के बीच गतिरोध कम होने का नाम नहीं ले रहा है। मौलाना फजलुर रहमान अभी भी इमरान खान के इस्तीफे पर अड़े हुए है।