imran khan

पाकिस्तान चैनल को दिए गए इंटरव्‍यू में पाकिस्तान पीएम इमरान खान से चीन में हो रहे उइगर मुसलमानों के दमन को लेकर तीखा सवाल पूछा गया, तब उन्‍होंने चीन की आलोचना करने की बजाए इस सवाल को ही गोलमोल करके टाल दिया।

पाकिस्तान के पास भारत के खिलाफ साजिशे रचे के अलावा कोई काम नही है लेकिन अब लग रहा मिल ही पाक को कुछ समय जिसको उसनें वहां पर मेला लगाने में इस्तेमाल कर लिया है। यह गधों का मेला कई कारणों से चर्चा में बना हुआ है।

यूरोप इंडिया चैम्बर ऑफ कॉमर्स (इआईसीसी) ने यूरोपीयन कमिशन के ईयू कमिश्नर फॉर ट्रेड को पत्र लिखकर मांग की है कि पाकिस्तान को दिए गए जीएसपी (प्राथमिकतओं की सामान्यीकृत प्रणाली) के दर्जा को वापस ले लिया जाए। पाकिस्तान को कश्मीर के लिए हर तरफ से झटके लग रहे हैं।

भारतीय सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने लाइन ऑफ कंट्रोल पर पाकिस्तान से संभावित हमले के मद्देनजर सुरक्षा तैयारियों की समीक्षा की। इससे पहले सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने भी लाइन ऑफ कंट्रोल पर भारत की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए कश्मीर का दौरा किया था।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका में एक कार्यक्रम का आयोजन होने वाला हैं। और अनुमान ये भी लगाया जा रहा हैं कि उस दौरे के समय डोनाल्ड ट्रंप भी उनके किसी कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं। उसमें 60 से अधिक प्रमुख अमेरिकी सांसद शिरकत करेंगे। 

यह बात किसी से छिपी नहीं है कि पाकिस्तान की सत्ता पर हमेशा सेना हावी रही है। पाकिस्तान के मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान भले ही चुनाव जीतकर इस पद तक पहुंचे हैं मगर उनके कार्यकाल में भी सेना का प्रभुत्व लगातार बढ़ता जा रहै। अमेरिकी कांग्रेस (संसद) की स्वतंत्र अनुसंधान विंग कांग्रेशनल रिसर्च सर्विस (सीआरएस) …

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान तिलमिलाया हुआ है। इसके साथ ही आए दिन नए-नए हथकंडे अपना रहा है, लेकिन उसे कोई कामयाबी नहीं मिल रही है बल्कि उसकी ही चारों तरफ किरकिरी हो रही है।

राष्ट्रीय टेलीविजन पर देश के अंतरित्र मंत्री ब्रिगेडियर (आर) एजाज अहमद शाह ने खुलासा किया है। शाह ने कहा कि इमरान सरकार ने आतंकी संगठन को मुख्यधारा से जुड़ने के लिए करोड़ों रुपए खर्च किए हैं।

भारत में अशांति फैलाने के लिए और साथ ही लोगों में अपनी दहशत बनाने के लिए पाकिस्तान बार-बार नापाक साजिशें करने से बाज नहीं आ रहा है। लाइन ऑफ कंट्रोल पर करीब रोज ही पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया जा रहा है।

 पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में पुलिस स्टेशनों के अंदर स्मार्टफोन का उपयोग करने से एसएचओ रैंक से नीचे के अधिकारियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। यही नहीं नागरिकों को भी पुलिस स्टेशनों के अंदर सेलफोन ले जाने की अनुमति नहीं होगी और थाने में प्रवेश करने से पहले उन्हें फोन को बाहर जमा करना होगा।