India-China dispute

चीन को एक और बड़ा झटका लगा है। दरअसल, इस साल आईपीएल 2020 में चीनी मोबाइल कंपनी VIVO स्पॉन्सर नहीं होगा। इस बार आईपीएल में नए स्पॉन्सर की तलाश है।

लद्दाख में LAC पर जारी डिसएंगेजमेंट प्रक्रिया के दौरान चीन ने केंद्र में स्थित पैगॉन्ग झील से अपने सैनिक हटाने से इनकार कर दिया है।

LAC पर चीन की एक और साजिश का खुलासा हुआ है। दोनों पक्षों में डिसएंगेजमेंट पर सहमति बनने के बाद भी चीन ने पैंगॉन्ग झील में अपनी तैनाती बढ़ाई है।

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच अभी भी सीमा पर तनाव जारी है। हालांकि भारतीय और चीनी सेना के कोर कमांडर्स के बीच हुई बैठक के बाद चीन कई इलाकों से पीछे हटने पर सहमत हो गया है, लेकिन अभी भी कुछ ऐसे इलाके हैं, जहां पर चीन बना रहना चाहता है। पैंगोंग लेक …

अपने ट्वीट के साथ राहुल गांधी ने भारत और चीन की सरकारों के बयानों को साझा किया है। इससे पहले चार जुलाई को भी राहुल ने मोदी सरकार पर निशाना साधा था।

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच मई महीने जारी तनाव के बाद अब ड्रैगन काबू में आता दिखाई दे रहा है। आज यानी सोमवार को चीनी सेना गलवान घाटी के पास हुई झड़प वाली जगह से एक किलोमीटर तक पीछे हटी है।

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच जारी तनाव के बीच बड़ी खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि 15 जून को गलवान घाटी के पास हुई झड़प वाली जगह से चीनी सेना एक किलोमीटर तक पीछे हटी है।

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने ट्वीट कर कहा कि "भारतीय मीडिया और सोशल मीडिया पर इस तरह के दावे हैं कि पाकिस्तान ने गिलगिट बाल्तिस्तान में एलओसी के पास अतिरिक्त जवान भेजे हैं।

पूर्वी लद्दाख में चीन की चालबाजी के बाद केंद्र की मोदी सरकार ने चीन के खिलाफ कई सख्त फैसले लिए हैं। भारत की तरफ से लगातार चीन को आर्थिक झटके दिए गए हैं।

भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद के बीच अब भारतीयों ने चीन को सबक सिखाने की ठान ली है। भारत में अब लोगों ने चीनी उत्पादों को खरदीने पर बैन लगाना शुरू कर दिया है।