-india covid-19

इस कोरोना वायरस ने पूरे देश में कोहराम मचा दिया हैं। जिससे कई लोगों की जानें गयी लेकिन कई खुशनसीब इस भयंकर बीमारी से बच निकले। धीरे- धीरे अब लोगों ने इस वायरस के बीच रहना सीख ही लिया है

भारत में भयावर होती कोरोना वायरस की स्थिति के बीच 13 जिलों ने चिंता बढ़ा दी है। यहां मौतों का आंकड़ा सबसे ज्यादा है। ये जिले 8 राज्यों में फैले हैं।

एक तरफ जहां लोग कोरोना संक्रमण के डर से अपने परिवार से भी दूरी बना ले रहे हैं वहीं दूसरी तरफ महामाया राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कालेज की महिला

कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए पुलिस महानिदेशक के निर्देश पर जिले के सभी थानों में कोविड केयर हेल्प डेस्क स्थापित की गई है। पहले चरण में पुलिस लाइन...

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखऊ में उस समय हड़कंप मच गया जब डायल 112 के एक साथ 5 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। ये सैंपल तब लिए गए जब 1 कर्मचारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी।

राजधानी दिल्ली में कोरोना के बढ़ते संक्रमण से हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान राजधानी में कोरोना के 1501 मरीज मिले हैं जबकि 48 लोगों की मौत हो गई।

इस बार महादेव के भक्त मायूस हो सकते हैं क्योंकि सरकार के सख्त आदेश के कि मंदिर परिसर में किसी श्रद्धालु को शिवलिंग छूने की सख्त मनाही है।

दुनिया में कोरोना वायरस से ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में भारत नवें और एशिया में पहले स्थान पर पहुंच गया है। तीन दिन पहले भारत ईरान को पीछे छोड़ते हुए दसवें स्थान पर पहुंचा था और अब वह तुर्की को पीछे छोड़ते हुए नवें स्थान पर पहुंच गया है।

लॉकडाउन फेज 2 का आज 14वां दिन है। 3 मई को लॉकडाउन की अवधि खत्म हो जायेगी, लेकिन उसके बाद भी के शिक्षण संस्थान, शॉपिंग मॉल, धार्मिक स्थल और सार्वजनिक परिवहन के बंद रहने की संभावना है।

भारत में इस वायरस के केस की संख्या को 100 से 1,000 तक पहुंचने में 15 दिन लगे थे। लेकिन दुख की बात है कि भारत इस प्रदर्शन को आगे वाले दिनों में बरकरार नहीं..