India Meteorological Department

यहां गुरुवार को पूरी रात बारिश होती रही और शुक्रवार को रुक-रुक कर बारिश हुई। आलम ये हैं कि तेज हवा की वजह से यहां कई जगह मकान क्षतिग्रस्त हो गए और कई पेड़ गिर गए। मौसम विभाग के अनुसार, महाराष्ट्र के रत्नागिरी में करीब 190 किलोमीटर दूर तूफान प्रवेश कर चुका है।

देश में मानसून अपने अंतिम चरण में है लेकिन फिर कई राज्यों में इसने उत्पाद मचा रखा है। देश के यूपी, बिहार, मध्य प्रदेश के साथ कई पूर्वोत्तर इलाकों की हालत खराब होती जा रही है। और अब मानसून ने फिर रफ्तार पकड़ ली है।

मौसम विभाग की ओर से जारी किये गए अलर्ट में विदर्भ, महाराष्ट्र, तेलंगाना, पूर्वी मध्य प्रदेश, ओडीशा, गुजरात, पूर्वी राजस्थान, पश्चिम मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, असम, मेघालय, मराठवाड़ा, कर्नाटक के तटीय इलाके और केरल में भारी बारिश का अनुमान जताया गया है ।

लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से महाराष्ट्र के कई इलाकों में भीषण बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। इस बीच सांगली में बड़ा हादसा हो गया है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने आने वाले दो महीनों के लिए मौसम का पूरा हाल बता दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक, अगस्त-सितंबर में मानसून के नार्मल रहने की संभावना है। विभाग ने अगले कुछ दिनों का हाल भी पेश किया है, जिसमें देश के कई राज्यों में भारी बारिश का अनुमान लगाया गया है।

इस साल मानसून छह जून को केरल के तट पर पहुंचेगा। भारत मौसम विज्ञान विभाग(आईएमडी) ने बुधवार को यह जानकारी दआईएमडी ने कहा कि सामान्य तौर पर दक्षिण पश्चिम मानसून एक जून को भारत की मुख्य भूमि में प्रवेश करता है पर इस बार यह पांच दिन की देरी से पहुंचेगा।

चक्रवातीय तूफान वरदा के सोमवार की दोपहर तक आंध्र प्रदेश के मछलीपट्टनम तट पर पहुंचने के आसार हैं। तूफान की आशंका के कारण आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु के मछुवारों को शनिवार से ही समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।