india

शरण मांग रहे नागरिक के साथ ऐसा बर्ताव किया गया कि खून के जरिए बही उसकी मांग। अमेरिका में शरण के लिए मांग कर रहे एक भारतीय नागरिक ने दावा किया हैं कि उसे अमेरिका के हिरासत केंद्र में भूख हड़ताल पर रहते समय पाइप के जरिए जबरदस्ती खाना खिलाया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से अब तक जितने भी भाषण दिए हैं, उनमें आज का भाषण सर्वश्रेष्ठ रहा, हालांकि उसमें कुछ जरुरी बातें और भी होनी चाहिए थीं। इस भाषण की सबसे बड़ी खूबी यह रही कि यह विपक्ष या भाजपा के नेता की तरह नहीं, बल्कि देश के नेता की तरह दिया …

तिरंगे को पिंगली वेंकैया नामक शख्स ने डिजाइन किया था। वेंकैया का जन्म 2 अगस्त 1876 को हुआ था। वेंकैया ने प्रारंभिक शिक्षा भटाला पेनमरू और मछलीपट्टनम से प्राप्त की। 19 साल की उम्र में मुंबई चले गए। 19 साल की उम्र में ही ब्रिटिश आर्मी से जुड़े।

एक सर्वे के अनुसार नरेंद्र मोदी भारतीय इतिहास में सबसे लोकप्रिय नेता बन गए हैं। उन्होंने इस रेस में इंदिरा गांधी को भी पीछे छोड़ दिया है। मोदी 37 फीसदी वोट के साथ काफी आगे चले गए हैं, जबकि आयरन लेडी के नाम से मशहूर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी दूसरे स्थान पर हैं और उनके खाते में महज 14 फीसदी वोट हैं।

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। इस बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को एक डर शता रहा है कि भारत सरकार पीओके में भी जा सकती है। पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इमरान खान पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओते) की विधानसभा में पहुंचे।

विदेश मंत्री जयशंकर बिल्कुल ठीक मौके पर चीन पहुंचे। उनके पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी चीन जाकर खाली हाथ लौट चुके थे लेकिन चीन कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तानी दबाव में आकर कोई अप्रिय रवैया अख्तियार न कर ले, इस दृष्टि से जयशंकर की यह यात्रा सफल रही।

आर्टिकल 370 हटाये जाने के बाद से लगातार पाकिस्तान भारत को धमकियां दे रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भारत को धमकी दे चुके हैं कि पुलवामा जैसा हमला कभी भी हो सकता है।

मालूम हो, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान और डोनाल्ड ट्रंप ने कुछ समय पहले मुलाक़ात की थी। इस मुलाक़ात का हवाला देते हुए ट्रंप ने कहा कि दोनों देशों के बीच जम्मू-कश्मीर मुद्दे को लेकर बात हुई।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। प्रदेश के पुनर्गठन को लेकर पाकिस्तान पूरी दुनिया में घूम-घूम कर मदद की गुहार लगाई और इसे इंटरनेशनल फोरम पर उठाने की कोशिश की, लेकिन दुनिया के देशों ने उसके कोई भाव नहीं दिया।