indian army

जम्मू के पुंछ जिले में पाकित्सान पिछले तीन दिनों से लगातार एलओसी पर गोलाबारी कर रहा है। भारतीय सेना ने जिसका रविवार देर रात तगड़ा जवाब दिया है। भारतीय सेना ने पाक की छह चौकियों को तबाह कर दिया।

सियाचिन में एवलांच (बर्फीले तूफान) ने एक बार फिर कहर ढाया है। इसकी चपेट में आने से भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए हैं। यह भारत में स्थित दुनिया का सबसे ऊंचा युद्धक्षेत्र है।

सीमा पर तैनात जवान और सैन्य अफसर दुश्मनों की गोली से बिल्कुल भी नहीं डरते हैं बल्कि उन्हें अगर किसी चीज से डर लगता है तो वो है ज़मीनी और कानूनी विवाद। कुछ ऐसी ही परेशानियां जवानों को तनावग्रस्त बना रही हैं।

सेना की मारक क्षमता को बढ़ाने के तहत एलओसी के कई हिस्सों में इजराइल की स्पाइक टैंकरोधी मिसाइलों को तैनात करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

बताते चलें कि पुलवामा जिले के पछाड़ द्रबगाम इलाके से सोमवार की देर शाम सुरक्षा बलों की पेट्रोलिंग पार्टी गुजर रही थी। इस दौरान वहां मौजूद आतंकियों ने सुरक्षाबलों के वाहन पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। जिसके जवाब में सेना के जवानों ने एक आतंकी को मार गिराया गया।

दुश्मन देश पाकिस्तान के आतंकी घुसपैठ के लिए तैयार बैठे हुए हैं, लेकिन बीएसएफ इसके लिए पूरी तरह से तैयार है। बता दें कि कश्मीर के पुलवामा में सेना ने किया जैश के आतंकी का एनकाउंटर किया है।

केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा, आर्टिकल 370 को हटाये लगभग 100 दिन से ज्यादा का वक्त बीत गया है, घाटी में हालात लगातार सामान्य हो रहे हैं

भारतीय सेना के लिए व्हाट्सऐप से जुड़ी खबर आ रही है। भारतीय सेना ने अपने जवानों के लिए व्हाट्सऐप को लेकर एक एडवाइजरी जारी की है।

पाकिस्तान ने घाटी के हालात को असामान्य करने की कोशिश एक बार फिर की है। खबर है कि आर्मी की रोड ओपनिंग पार्टी ने राजोरी में मंगलवार को आईईडी बरामद की। सेना का बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंच चुका है। राजोरी पुंछ हाईवे पर दो घंटे से यातायात रुका हुआ है।